जयपुर, जागरण संवाददाता। राजस्थान में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 17,532 नए संक्रमित मिलने के साथ ही 163 की मौत हुई है। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या एक लाख 98 हजार 10 है। प्रदेश में अब तक 5182 लोगों की मौत होने के साथ ही सात लाख दो हजार 568 कुल संक्रमित हुए हैं। इधर, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन लागू करने के संकेत दिए हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में संपूर्ण लॉकडाउन की बात कही है। गहलोत ने राहुल के बयान का समर्थन करते हुए योजनाबद्ध तरीके से लॉकडाउन लगाने की पैरवी की है। उन्होंने यह भी तर्क दिया कि योजनाबद्ध लॉकडाउन ही कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में मददगार हो सकता है।

गहलोत ने इंटरनेट मीडिया पर पोस्ट में प्रदेश में लॉकडाउन लगाने के संकेत दिए। गहलोत ने लिखा कि मैं राहुल गांधी के उस आह्वान का पूरी तरह समर्थन करता हूं, जिसमें उन्होंने लॉकडाउन को ही अंतिम विकल्प बताया है। एक साल से भी ज्यादा समय से मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर्स देश के लिए अतिरिक्त बोझ उठा रहे हैं। उनमें से कईयों की जान चली गई। कोरोना की दूसरी लहर हमारे सिर पर है। एक्सपर्ट और डॉक्टर्स का मानना है कि हम कितनी ही तैयारी कर लें, हम पहले से ही ऑक्सीजन, दवाओं और उपकरणों की कमी से जूझ रहे हैं, जल्द ही हमें मेडिकल स्टाफ की कमी से जूझना पड़ सकता है। उन्होंने लिखा,एक योजनाबद्ध लॉकडाउन वायरस की चेन तोड़ने में मददगार हो सकता है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में प्रदेश में वीकेंड कर्फ्यू लागू होने के साथ ही रेड अलर्ट पखवाड़ा भी चल रहा है। गहलोत ने बुधवार आधी रात तक मंत्रियों के साथ प्रदेश में शादियों पर रोक और संपूर्ण लॉकडाउन पर चर्चा की थी। इसके लिए पांच मंत्रियों की कमेटी गठित कर शीघ्र सुझाव देने के लिए कहा कि लॉकडाउन किस तरह से लगाया जाए, इस बारे में सुझाव दे।