संवाद सहयोगी, तरनतारन : महिला पशु चिकित्सक की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या और शव को जलाने वाले आरोपितों को हैदराबाद में मुठभेड़ के दौरान मार गिराने के मामले की मानवाधिकार आयोग द्वारा जांच के आदेश देने से घबराने की जरूरत नहीं, क्योंकि दुनिया जानती है दरिदों ने पुलिस के हथियार छीनकर उन पर हमला किया था।

यह कहना है समाज सेविका दविंदर कौर वालिया का। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को शायद कानूनी प्रक्रिया के बाद फांसी पर लटकाने में देर हो जाती, परंतु आरोपितों ने पुलिस पर हमला कर खुद ही अपनी मौत को बुलावा दिया। वालिया ने कहा कि देश में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अत्याचार को रोकने लिए सख्त कानून की जरूरत है।

हैदराबाद में हुई सामूहिक दुष्कर्म की घटना ने पूरे देश को झकझोर दिया था। वहां की पुलिस द्वारा चारो आरोपितों को ढेर कर देने से पूरे देश की पुलिस का मनोबल बढ़ेगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!