जागरण संवाददाता, तरनतारन : माउंट लिटरा जी स्कूल अमृतसर की ओर से गांव नौशहरा पन्नुआं के सुमित पैलेस में पराली प्रबंधन को लेकर जागरूकता सेमिनार करवाया गया गया। इसकी अगुआई एसएसपी ध्रुव दहिया ने की। सेमिनार में स्कूली विद्यार्थियों ने पराली न जलाने का संदेश देने वाले विभिन्न नाटक पेश करते पराली जलाने से फैलने वाले धुएं के साथ होने वाले नुक्सान से अवगत करवाया। विद्यार्थियों की ओर से पेश किए नाटक को देख लोगों ने पराली न जलाने का संकल्प लिया।

इस दौरान आइवीवाइ अस्पताल अमृतसर के विशेषज्ञ डॉ. अनमोल कौर ने कहा कि श्री गुरु नानक देव जी की ओर से पवन, पानी और धरती को स्वच्छ रखने का जो संदेश दिया है उस पर अमल कर हम अपना और आने वाली पीढ़ी का भविष्य उज्जवल बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि पराली के धुएं से प्रत्येक व्यक्ति को एक दिन में सिगरेट की नौ डिब्बियां पीने जितना नुकसान होता है।

पर्यावरण विशेषज्ञ डॉ. सुखविंदर सिंह सिद्धू ने पराली को न जलाने की बजाय पराली को संभालने के विभिन्न तरीकों के बारे में जानकारी दी। एसपी गुरचरण सिंह और डीएसपी पट्टी कंवलप्रीत सिंह मंड ने पराली के प्रबंधन के बारे में जानकारी दी। स्कूल स्टाफ ने मुख्य अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। नाटक और गीतों के जरिए जागरूकता फैलाने वाले विद्यार्थियों को एसएसपी ध्रुव दहिया की ओर से विशेष तौर पर सम्मानित किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!