संवाद सहयोगी, तरनतारन : नगर कौंसिल के पूर्व वरिष्ठ उपाध्यक्ष व भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रभजीत रटौल ने कहा कि पूर्व मंत्री अनिल जोशी की ओर से पंजाब की कृषि और सभ्याचार को बचाने लिए लगातार आवाज उठाई जा रही है। इस दौरान कुछ शरारती लोग कभी शिअद और कभी आम आदमी पार्टी के साथ जोशी की भविष्य की राजनीति जोड़ रहे हैं। जबकि जोशी दल बदलू नहीं, बल्कि पंजाब के हित को समर्पित होकर राजनीति के माध्यम से सेवा करने में विश्वास रखते हैं।

प्रभजीत रटौल ने कहा कि जोशी का फर्ज है कि पंजाब के मौजूदा हालात से हाईकमान को अवगत करवाकर राज्य के विकास और जनता की भलाई लिए काम किया जाए। परंतु भाजपा के कुछ नेता पदों की लालसा में आकर पंजाब के किसानों खिलाफ गलत बयानबाजी कर रहे है। इस मौके पर संजीव कुमार, बबलू नैयर, जतिन नैयर, राज कुमार राजू, राजविदर राजू, प्रीत सिंह, गगनदीप सिंह मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि इससे दो दिन पहले भी प्रभजीत रटौल ने पूर्व कैबिनेट मंत्री अनिल जोशी के खिलाफ घटिया राजनीति करने वाले नेताओं को बाज आने की चेतावनी दी थी उन्होंने कहा था कि जिन लोगों ने जोशी की अंगुली थामकर पंजाब की सियासत में पैर रखा, आज वही लोग जोशी को भाजपा का बागी नेता करार दे रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि असलियत यह है कि जोशी पंजाब में जन्मे व बड़े हुए हैं। पंजाबी सभ्याचार व विरसे से जुड़कर वह जनता की सेवा लिए सियासत में आए थे। अनिल जोशी ने तरनतारन से सियासी सफर शुरू करके राज्य भर में अच्छा मुकाम पाया है। दिल्ली में किसानों के आंदोलन का समर्थन करके जोशी ने भाजपा में बगावत नहीं की, बल्कि पार्टी हाईकमान को अनुरोध किया है कि पंजाब के हितों को नजरअंदाज न किया जाए। प्रभजीत रटौल ने कहा कि जोशी ने ही पप्पू महाजन को अमृतसर से भाजपा की टिकट दिलाकर पार्षद का चुनाव जिताया था। परंतु राज्य में सत्ता परिवर्तन होने के बाद जब नगर निगम अमृतसर के चुनाव आए तो पप्पू महाजन चुनाव से भाग गए थे। अब पप्पू महाजन द्वारा पंजाब के कदवार नेता अनिल जोशी के खिलाफ बयानबाजी करनी शोभा नहीं देती।

Edited By: Jagran