जागरण संवाददाता, तरनतारन : काउंटर इंटेलीजेंस की टीम द्वारा चोहला साहिब के पास गिरफ्तार किए गए चार आतंकियों के मामले में जांच आगे बढ़ाते हुए एनआइए की टीम ने आतंकी बाबा बलवंत सिंह निहंग के गांव में लगातार चार घंटे जांच की। जांच दौरान जाली करंसी व कुछ असलहा भी मिला। साथ ही रोमनदीप के परिवार से भी टीम ने पूछताछ की।

आतंकी बाबा बलवंत सिंह के परिवारिक सदस्यों ने एनआइए को बताया कि कई वर्षो से उनका बाबा बलवंत के साथ राबता नहीं है। करीब 15 वर्ष पहले उसकी पत्नी की मौत हो गई थी। इसके बाद वह होशियारपुर जिले के धार्मिक डेरे में रहने लगा था। उसकी बेटी अमन को उसका ताया सुखदेव सिंह पढ़ा रहा है, जो गुजरात में ढाबा चलाता है। हालांकि पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी से दो दिन पहले ही सुखदेव सिंह को हिरासत में लिया था। थर्ड डिग्री टार्चर के डर के कारण वह रिहा होते ही वापस गुजरात चला गया था।

पंडोरी ब्लास्ट के मामले में हीरा के घर में दी दबिश

चार सितंबर को पंडोरी गोला में हुए ब्लास्ट के बाद सिख फार जस्टिस से जुड़े हरजीत सिंह हीरा के घर भी टीम ने दबिश दी। गौर हो कि हीरा के घर से थोड़ी दूर खाली प्लाट में चार सितंबर को बम धमाका हुआ था। धमाके दौरान हरप्रीत सिंह हैप्पी निवासी बचड़े, विक्रमजीत सिंह विक्की निवासी कदगिल की मौके पर मौत हो गई थी। जबकि गुरजंट सिंह जंटा बुरी तरह से घायल हो गया था। जिसकी बाद में दोनों आंखों की रोशनी जाती रही थी। चार अक्टूबर को जंटा को भी पुलिस हिरासत में ले लिया गया था। पंडोरी गोला ब्लास्ट के मामले में अमृतपाल सिंह बचड़े, चन्नदीप सिंह बटाला, मनप्रीत सिंह मुरादपुरा, हरजीत सिंह हीरा, मलकीत सिंह कोटला गुजर, अमरजीत सिंह फतेहगढ़ चूड़िया को अभी तक गिरफ्तार किया जा चुका है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!