जागरण संवाददाता, तरनतारन

शहर की सड़कों और बाजारों में लगाए गए अवैध होर्डिग हटाने के लिए नगर कौंसिल की टीम ट्रैफिक पुलिस के साथ बुधवार को सड़कों पर उतरी। कार्रवाई के दौरान टीम ने कुछ रेहड़ी और फड़ी वालों की सब्जियां भी सड़क पर बिखेर दी। सब्जी विक्रेताओं ने प्रशासन की इस कार्रवाई का कड़ा विरोध जताया।

नगर कौंसिल की प्रधान सविंदर कौर रंधावा की अध्यक्षता में हुई बैठक में फैसला लिया गया था कि किसी भी सड़क व बाजार पर कोई ऐसा होर्डिग नहीं रहेगा, जिसकी फीस नगर कौंसिल को जमा नहीं करवाई गई। बुधवार को इंस्पेक्टर नरेश कुमार, नरिदर लक्की की अगुआई में कौंसिल की टीम ने अवैध होर्डिग और बोर्ड हटाने की कार्रवाई शुरू की। करीब डेढ़ घंटे में 40 से अधिक होर्डिग हटाए और टीम ने इन्हें कब्जे में ले लिया।

श्री ठाकुरद्वारा मदन मोहन मंदिर के बीच सब्जी की रेहड़ियों को नगर कौंसिल के मुलाजिमों ने पलट दिया जिसका सब्जी विक्रेताओं ने विरोध जताया। हालांकि बाद में नगर कौंसिल कर्मियों ने अपनी गलती स्वीकार की। टीम ने शहर के विभिन्न बाजारों में जाकर दुकानदारों को चेतावनी दी कि तीन दिन के अंदर सड़कों से अवैध कब्जे हटा लें।

ट्रैफिक पुलिस इंचार्ज विनोद कुमार और बिक्रमजीत सिंह ने दैनिक जागरण को बताया कि लगातार बिगड़ रही ट्रैफिक व्यवस्था को ठीक करने के लिए प्रशासन द्वारा अभियान चलाया गया है। दुकानदारों को चाहिए कि प्रशासन को सहयोग दें। वहीं, नगर कौंसिल इंस्पेक्टर नरेश कुमार ने कहा कि अवैध होर्डिग और बोर्ड हटाने की मुहिम के साथ शहर को अतिक्रमण से मुक्त करवाने के लिए भी मुहिम छेड़ी जाएगी। दुकानदारों को प्रशासन का सहयोग करना चाहिए: एसडीएम

एसडीएम सुरिदर सिंह का कहना है कि गुरु नगरी की सुंदरता बरकरार रखने के लिए इसे अवैध कब्जों से मुक्त करना जरूरी है। दुकानदारों को चाहिए कि प्रशासन का साथ देकर अवैध कब्जे हटवाएं। उन्होंने कहा कि प्रशासन नहीं चाहता कि किसी के खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई करने का मौका मिले।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!