जागरण संवाददाता, तरनतारन : तीन कश्मीरी अंतरराष्ट्रीय तस्करों के साथी परमजीत सिंह पम्मा की गिरफ्तारी के बाद स्थानीय पुलिस की नींद टूट गई। पम्मा को 22 लाख की ड्रग मनी के साथ काबू करने वाली टीम अब उसका नेटवर्क तोड़ने में जुटी है। कुछ समय पहले दुबई से लौट कर घर आए पम्मा ने गठबंधन सरकार के दौरान शराब के ठेके भी ले रखे थे।

गत दिन पूर्व नारकोटिक कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की टीम द्वारा जम्मू कश्मीर से आई 22 किलो हेरोइन की खेप बरामद की गई थी। टीम ने उस समय जम्मू-कश्मीर से संबंधित तीन तस्करों बशीर अहमद मीर निवासी लच्छीपुरा, फिरोज अहमद शेख निवासी गंखथपुरा, वसीम अहमद भट्ट निवासी सहिथाल, तहसील हंदवाड़ा जिला कुपवाड़ा (जम्मू कशमीर) को काबू किया था। मौके पर इनसे सेंट्रो कार से 22 किलो हेरोइन बरामद की गई। यह तस्कर जम्मू कश्मीर से हेरोइन लाकर जालंधर में सप्लाई करते आ रहे थे। एनसीबी की टीम द्वारा तीनों से पूछताछ शुरू की गई तो पता चला कि इनके साथ तरनतारन जिले के गांव रुड़ीवाला (थाना चोहला साहिब) निवासी परमजीत सिंह पम्मा भी मिला हुआ है।

पूछताछ के आधार पर बशीर अहमद के घर से 38 किलो हेरोइन की और खेप बरामद तो हुई साथ ही टीम के हाथ जालंधर के ट्रांसपोर्ट नगर चौंक (डिविजन नंबर 8) के पास परमजीत सिंह पम्मा हाथ लग गया। पम्मा की कार से 22 लाख की ड्रग मनी बरामद की गई।

पम्मा व उसके बेटे पर दर्ज है धोखाधड़ी का केस

एनसीबी के जोनल डायरेक्टर वरेंद्र यादव के नेतृत्व में चलाए गए आप्रेशन के दौरान परमजीत सिंह पम्मा रूड़ीवाला की गिरफ्तारी को बड़ी सफलता माना गया। पम्मा रूड़ीवाला का पुलिस ने रिकार्ड खंगाला तो मालूम हुआ कि 5 माह पहले उसके खिलाफ विदेश भेजने के नाम पर ठगी का मामला दर्ज है। थाना चोहला साहिब में दर्ज एफआईआर नंबर 49 में पम्मा रूड़ीवाला के साथ उसका लड़का सुमितपाल सिंह भी नामजद है। पम्मा रूड़ीवाला के खिलाफ लोगों को विदेश भेजने के नाम पर ढेर सारी शिकायतें हैं। परंतु उसके खिलाफ एक ही मामला दर्ज किया गया। हालाकि इस मामले में पम्मा रूड़ीवाला और उसके लड़के सुमितपाल सिंह की गिरफ्तारी नहीं हो पाई। बताया जा रहा है कि कुछ समय वह दुबई में भी रहा है।

आरोपितों का रिकॉर्ड खंगाल रही है पुलिस : थाना प्रभारी

थाना चोहला साहिब के प्रभारी इंस्पेक्टर राजनपाल ने दैनिक जागरण को बताया कि परमजीत सिंह पम्मा और उसके लड़के सुमितपाल सिंह का रिकार्ड खंगालना शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि हेरोइन की तस्करी या तस्करों से संबंध होने के पहले कोई भी शिकायत नहीं आई। फिर भी मामले को पूरी गंभीरता से लेकर जांच शुरू की गई है।

Posted By: Jagran