जेएनएन, तरनतारन। Coronavirus COVID-19 के कारण लगाए गए कर्फ्यू के बीच आतिशबाजी से भरा ट्रक तामिलनाडु से चलकर पांच राज्यों (कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान और पंजाब) का बॉर्डर पार कर तरनतारन पहुंच गया। लगभग तीन हजार किलोमीटर की दूरी तय करने पर ट्रक को कहीं रोका नहीं गया और जगह-जगह लगे नाकों पर चेकिंग नहीं हुई। पंजाब में वाहनों के प्रवेश करते समय हरिके पत्तन में सबसे बड़ा नाका लगाया जाता है। तरनतारन पुलिस को सूचना मिली तो थाना सदर की पुलिस ने गांव कोट धर्म चंद के पास ट्रक को रोक लिया। पुलिस ने मौके पर दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

एसएसपी ध्रुव दहिया ने बताया कि सूचना मिली थी कि तामिलनाडु से आतिशबाजी से भरा ट्रक कस्बा झब्बाल के रास्ते से अमृतसर जा रहा है। थाना सदर प्रभारी इंस्पेक्टर मनोज कुमार की अगुवाई में पुलिस ने ट्रक को कब्जे में लिया। ट्रक में लोड की आतिशबाजी के बारे में ट्रक चालक कोई दस्तावेज नहीं दिखा सका।

पुलिस ने गांव नामांकन के रहने वाले ट्रक चालक रवि चंद्रन और उसके साथी तेवरमपट्टी (तामिलनाडु) के सिंदल राजा को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में उन्होंने बताया कि अमृतसर के जोगिंदर सिंह और व्यापारी बलवंत सिंह ने आतिशबाजी का आर्डर दिया था। थाना सदर में दोनों आरोपितों के अलावा अमृतसर के उक्त व्यापारियों को भी नामजद कर किया गया है।

बता दें, इन दिनों कोरोना वायरस के कारण पूरे देश में लॉकडाउन है, जबकि पंजाब में कर्फ्यू है। इसके बावजूद ट्रक का यहां तक पहुंचना सवाल खड़े करता है, जबकि जगह-जगह पुलिस बल तैनात है। यह ट्रक यहां तक कैसे पहुंचा इसकी जांच की जा रही है। आतिशबाजी क्यों मंगाई गई थी इसकी भी जांच की जा रही है। यह जांच के बाद की स्पष्ट हो पाएगा कि आतिशबाजी क्यों मंगाई गई थी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!