संवाद सहयोगी, तरनतारन : अमृतसर-खेमकरण मुख्य मार्ग गांव मन्नण के नजदीक नेशनल हाइवे अथॉरिटी पर टोल प्लाजा के विरोध में किसान-मजदूर संघर्ष कमेटी की ओर रविवार को केंद्र और पंजाब सरकार का पुतला फूंकते हुए जमकर नारेबाजी की गई। किसानों-मजदूरों ने टोल प्लाजा का नोटिफिकेशन रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि यदि ऐसा न हुआ तो संघर्ष तेज किया जाएगा।

इस मौके पर संबोधित करते हुए किसान नेता गुरलाल सिंह पंडोरी, हरप्रीत सिंह और सतविंदर सिंह सिधवां ने कहा कि धार्मिक स्थल गुरुद्वारा बीड़ बाबा बुड्ढा जी (बीड़ साहिब) सहित आसपास के अन्य धार्मिक स्थलों के प्रति लोगों की श्रद्धा होने के कारण रोजाना हजारों श्रद्धालुओं के आगमन को देखते हुए नेशनल हाइवे अथॉरिटी द्वारा जान बूझकर टोल प्लाजा के लिए इस जगह का चयन किया गया है। हाइवे अथारिटी द्वारा अपने निजी हितों को तरजीह देते लोगों की धार्मिक भावनाओं को अनदेखा किया जा रहा है। किसानों ने कहा कि एक तो उक्त सड़क फोरलेन या सिक्सलेन नहीं बनाई गई, इसको मामूली चौड़ा किया गया है। दूसरा टोल प्लाजा के लिए जमीन लेते समय जमीनों के मालिक किसानों की बिल्कुल सहमति नहीं ली गई। धक्के से चार उपजाऊ जमीनें छीनी जा रही है। इस अवसर पर हरपाल सिंह, निर्मल सिंह सिधवां, दिलबाग सिंह बालाचक्क, हरदीप सिंह, राजबीर सिंह जौहल, दलजीत सिंह, हरजिंदर सिंह मन्नण, बापू अर्जुन सिंह रटौल, मनजिंदर सिंह, अजीत सिंह गोहलवड़, प्रगट सिंह, बलबीर सिंह पंडोरी रणसिंह, अमरीक सिंह, जगीर सिंह कोटली, अंग्रेज सिंह दोबुर्जी, हरभिंदर सिंह और लखबीर सिंह पंडोरी सिधवां मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!