संवाद सूत्र, झब्बाल : कस्बे के एक मेडिकल स्टोर पर मंगलवार को एक फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर पहुंचा। उसने केमिस्ट को लाइसेंस दिखाने के लिए कहा। इस पर केमिस्ट ने उस व्यक्ति से अपना पहचान पत्र या आइडी दिखाने को कहा तो उसने अपना आधार कार्ड निकालकर दिखाया। उसकी पहचान तरनतारन रोड अमृतसर निवासी मंजीत सिंह के रूप में हुई।

संदेह होने पर केमिस्ट ने तुरंत जिला केमिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष बिमल अग्रवाल के ध्यान में मामला लाया। बिमल ने जब सेहत विभाग के उच्च अधिकारियों से बातचीत की तो पता चला कि वह व्यक्ति ड्रग इंस्पेक्टर नहीं है। इसकी भनक लगते ही मंजीत अपना आधार कार्ड वहीं छोड़कर फरार हो गया।

उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही अमृतसर में भी यह व्यक्ति केमिस्ट की दुकानों पर देखा जा चुका है। यह उनको धमकाता है और खुद को ड्रग इंस्पेक्टर बताकर ब्लैकमेलिंग करता है। इसको लेकर ड्रग डिपार्टमेट के अधिकारी ने सूचना जारी कर केमिस्टों को अलर्ट रहने को कहा था। अध्यक्ष बिमल ने बताया कि मामला केमिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सुरिदर दुग्गल व तरनतारन के एसएसपी ध्रुमन एच निंबाले के ध्यान में ला दिया गया है। उन्होंने केमिस्टों से अपील की कि ऐसे फर्जी लोगों से सावधान रहें। वहीं, एसएसपी ने कहा कि मामले संबंधी डीएसपी (सिटी) सुच्चा सिंह बल्ल को जांच के आदेश दिए गए हैं।

उल्लेखनीय है कि दैनिक जागरण की तरफ से हाल ही में इस व्यक्ति को लेकर लोगों को आगाह करते हुए खबर प्रकाशित की गई थी। उसी का यह फायदा हुआ कि इस झब्बाल के केमिस्ट ने शक होने पर उससे आइडी कार्ड मांग लिया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021