परिजनों का आरोप-इलाके में खुलेआम बिक रहा नशा, युवकों की मौत के लिए कांग्रेस सरकार जिम्मेदार

18एएसआर426

संसू, गोइंदवाल साहिब : नशा न मिलने पर फंदा लगाकर आत्महत्या करने वाले दो दोस्तों हरदीप सिंह और पिंदर सिंह के शवों का पुलिस ने वीरवार को पोस्टमार्टम करवाया। इसके बाद दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

पिंदर सिंह व हरदीप सिंह के परिजनों सुखविंदर सिंह, मंगल सिंह, लखबीर सिंह और दिलबाग सिंह ने बताया कि इलाके में नशे की लत का पर्दाफाश हुआ है। इन युवाओं की मौत के लिए कांग्रेस सरकार सीधे तौर पर जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि इलाके में फैले नशे के कारोबार को रोकने लिए गांव ख्वासपुरा की पंचायत ने प्रस्ताव पारित करके पुलिस को दिया था। नशा बेचने वालों की सूची भी दी थी। पुलिस ने इस सूची को रद्दी की टोकरी में डाल दिया। शिअद के उपाध्यक्ष रमनदीप सिंह भरोवाल ने कहा कि कैप्टन सरकार ने नशा खत्म करने का जो वादा किया था, वह झूठा साबित हुआ है। खडूर साहिब हलके में नशे का पूरी तरह से बोलबाला है। उन्होंने कहा कि दोनों मृतकों के परिजनों को मुआवजा मिलना चाहिए। इस मौके प्रेम सिंह पन्नू, तरसेम सिंह, भूपिंदर सिंह, नंबरदार मंजीत सिंह, जगरूप सिंह लालपुरा, जोगा सिंह नाहर, जागीर सिंह भोजेवाली, बख्शीश सिंह छापड़ी, जोगा सिंह प्रधान आदि मौजूद थे।

वहीं, अमरजीत सिंह काला फतेहाबाद ने कहा कि कांग्रेस सरकार नशे को रोक पाने में असफल साबित हुई है।

Posted By: Jagran