जेएनएन, तरनतारन। बीड़ बाबा बुड्ढा साहिब से लौट रहे अमनदीप सिंह अमन व उसकी पत्नी अमनप्रीत कौर प्रीति की हत्या के मामले में 18वें दिन डीएसपी सुच्चा सिंह की अगुआई में पुलिस ने आरोपित मंजीत सिंह को गिरफ्तार कर। मंजीत सिंह प्रीति का सगा भाई है, जिसने तानों से तंग आकर चचेरे भाइयों से जीजा व बहन का कत्ल करवाया था। उधर, पुलिस के दबाव के कारण दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपित गुरभिंदर सिंह ने अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया।

थाना सराय अमानत खां के गांव ढाला वासी किसान सुखदेव सिंह के बेटे अमन ने गांव गहरी वासी किसान अमरजीत सिंह की बेटी प्रीति के साथ प्रेम विवाह करवाया था। एक वर्ष के बाद चचेरे भाइयों गुरभिंदर सिंह, सुरजीत सिंह ने जीजा व बहन का कत्ल करने की साजिश रची।

15 सितंबर सुबह साढ़े 8 बजे अमन और प्रीति गुरुद्वारा बीड़ बाबा बुड्ढा साहिब में माथा टेककर मोटरसाइकिल पर लौट रहे थे कि दोनों को गोलियां मार दी। इस हत्याकांड को लेकर पुलिस ने गुरभिंदर सिंह, उसके भाई सुरजीत सिंह, पिता मेवा सिंह के अलावा दो रिश्तेदार हरविंदर सिंह, अमरजीत सिंह समेत नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

ऑनर किलिंग मामले की जांच में सामने आया कि प्रेम विवाह करवाने वाली प्रीति के छोटे भाई मंजीत सिंह ने भी हत्याकांड की साजिश में अहम भूमिका निभाई थी। सूत्रों के मुताबिक 15 सितंबर की सुबह 7 बजे प्रीति ने मां को मिलने के लिए गुरुद्वारा बीड़ बाबा बुड्ढा साहिब में आने के लिए फोन किया था। उस समय प्रीति के भाई मंजीत सिंह ने उनकी बातें सुन ली थी। इसके बाद मंजीत सिंह ने चचेरे भाइयों गुरभिंदर सिंह और सुरजीत सिंह को फोन पर तैयार रहने के लिए कहा। जांच में मोबाइल लोकेशन ने अहम भूमिका निभाई।

एसएसपी ध्रुव दहिया ने बताया कि गुरभिंदर सिंह को अदालत से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि प्रीति के ससुराल में उसके पिता, माता के अलावा भाई मंजीत सिंह भी आने लगे थे, परंतु मंजीत चचेरे भाइयों के तानों से परेशान था। यह भी बताने योग्य है कि अमन, गुरभिंदर और सुरजीत एक ही स्कूल में पढ़ते थे। इस बीच अमन का प्रेम प्रीति से हो गया। गुरभिंदर नहीं चाहता था कि वह अमन को जीजा कहे, क्योंकि अमन और गुरभिंदर के बीच स्कूल टाइम में कहासुनी हुई थी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!