जागरण संवाददाता, संगरूर :

पंजाब सुबार्डिनेट सर्विसिज फेडरेशन की बैठक राज्य प्रधान सतीश राणा के नेतृत्व में ऑनलाइन तरीके से हुई। बैठक में राज्य महासचिव तीर्थ सिंह बासी ने बताया कि सरकार के वादाखिलाफी व कोविड की आड़ में मुलाजिमों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ संघर्ष शुरु किया गया है। इसके तहत गत दिनों पेंशनरों व मुलाजिमों के सांझे फ्रंट द्वारा किए गए संघर्ष पर संतुष्टि व्यक्त की गई। पंजाब यूटी मुलाजिम व पेंशनर्स सांझा फ्रंट के संघर्ष को राज्य में लागू करने हेतु 4-5 अगस्त को पंजाब में सरकार की अर्थी फूंकी जाएगी। 10 से 14 अगस्त तक पंजाब के विधायकों को काले चोला पहनकर रोष पत्र सौंपे जाएंगे। 18 अगस्त को अपने कार्यालयों में हाजिरी लगाने के बाद समक्ष रोष प्रदर्शन किए जाएंगे। बैठक में जीटीयू, पैरा मेडिकल, पीडब्लयूडी, फील्ड एंव वर्कशॉप, वर्कर्स यूनियन, जंगलात वर्कर्स यूनियन, मिड डे मील वर्कर्स यूनियन, जल स्त्रोत यूनियन, आशा वर्कर व फेसीलिटेटर यूनियन, मंडी बोर्ड मुलाजिम यूनियन, आंगनबाड़ी मुलाजिम यूनियन, दर्जा चार यूनियनों द्वारा किए जा रहे संघर्षो की जानकारी दी। इस मौके मनजीत सिंह सैणी, दर्शन बेलूमाजरा, सुखविदर चाहल, हरी बिलास, इंद्रजीत विर्दी, गुरदीप सिंह, कुलदीप सिंह, जसप्रीत गगन, गुरविदर सिंह, बलविदर सिंह, जतिदर कुमार, हरमनप्रीत कौर, नीना जोन, अनिल कुमार आदि नेता उपस्थित थे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!