जागरण संवाददाता, संगरूर

पिछले कई दिनों से लगातार चढ़ रहे गर्मी के पारे से शनिवार रात हुई बरसात ने राहत प्रदान की। रविवार को भी दिनभर मौसम सुहावना बना रहा। किसानों ने भी राहत की सांस ली है। दूसरी ओर बरसात से पहले चली तेज आंधी के कारण कई जगह पर बिजली के खंभे इत्यादि गिरने से बिजली सप्लाई ठप रही। ग्रामीण इलाकों मे लोगों को रात भर बिजली नहीं मिली।

मूनक इलाके में बिजली के खंभे टूटकर सड़क पर आ गिरे। जिले में शनिवार रात को 18 एमएम बरसात हुई, जिस कारण कई जगह जलभराव की स्थिति बनी रही। तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से लुढ़ककर 34 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

शनिवार मध्यरात्रि तेज आंधी के कारण जाखल-पातड़ा रोड से गुजरती 11 केवी लाइन पर वृक्ष टूटकर गिरने से बिजली के कई खंभे व तारें टूट गईं। आसपास के इलाके की बिजली सप्लाई ठप हो गई। सुबह बिजली के खंभों को सड़क से हटाकर ट्रैफिक व्यवस्था चालू की गई।

ट्रैफिक इंचार्ज जसविदर सिंह ने टीम सहित मौके पर पहुंचकर आवाजाही दुरुस्त करवाई। नगर पंचायत, बिजली मुलाजिमों ने ठेकेदार बूटा सिंह के साथ मिलकर तुरंत बिजली सप्लाई चालू करने में जुट गए।

जेई हरबंस सिंह ने कहा कि लाइन डैमेज होने के कारण कडैल, बजीदपुर, चूडल फीडर की बिजली सप्लाई ठप हुई है, जबकि शहर की सप्लाई चालू है। ठेकेदार की मदद से बिजली सप्लाई दुरुस्त करवाई गई है।

भवानीगढ़ की अनाज मंडी में बरसात का पानी जमा होने के कारण अनाज मंडी झील बन गई। आढ़तियों व अन्य लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। अनाज मंडी में से गुजर रहा एक व्यक्ति पानी जमा होने के कारण गहरे गड्ढे में मोटरसाइकिल समेत गिर गया, जिसकी जान बाल-बाल बची। आसपास मौजूद लोगों ने कड़ी मशक्कत के बाद मोटरसाइकिल समेत उसे बाहर निकाला।

मंडी निवासी महेंद्र सिंह कालेके, हरजिदर सिंह, प्रीतपाल सिंह कलेर ने कहा कि मंडी में पानी की निकासी के उचित प्रबंध न होने के कारण मंडी में चारों तरफ पानी भर गया है। यहां पानी कई-कई दिन तक जमा रहता है। गंदे पानी से बीमारियां फैलने का भी खतरा बना रहता है।

अगले दिनों में भी इलाके में बरसात के आसार: शनिवार रात्रि बरसात से किसानों ने भी राहत की सांस ली है। किसानों का कहना है कि बरसात धान की फसल के लिए काफी फायदेमंद है, वहीं पानी के लिए बिजली का खर्च कम हो जाएगा। संगरूर जिले में अगले दिनों में भी बरसात के आसार है। बुधवार से अगले मंगलवार तक लगातार बरसात होने की संभावना है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!