जेएनएन, संगरूर। केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ जहां दिल्ली के शाहिन बाग में मुस्लिम संगठनों सहित अन्य संगठनों द्वारा पक्का मोर्चा लगाकर संघर्ष किया जा रहा है। वहीं पंजाब के जिला संगरूर के तहत मुस्लिम बहुल इलाका मालेरकोटला भी शाहीन बाग में तबदील हो रहा है। CAA के खिलाफ संघर्षशील 72 संगठनों पर आधारित ज्वाइंट एक्शन कमेटी की अगुआई में नौ जनवरी से मालेरकोटला के सरहंदी गेट पर पक्का मोर्चा लगातार जारी है।

हर दिन मालेरकोटला शहर से बाहर के संगठन CAA के खिलाफ संघर्ष को समर्थन देने के लिए यहां पहुंच रहे हैं। ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने एलान किया है कि जब तक CAA को रद नहीं किया जाएगा, तब तक संघर्ष जारी रखा जाएगा। 16 फरवरी को मालेरकोटला बंद का आह्वान किया गया है, जिसमें मालेरकोटला सहित पंजाबभर के संगठन शिरकत करेंगे। रोजाना मालेरकोटला के विभिन्न मोहल्लों के लोग भी कैंडल मार्च करके केंद्र सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हैं।

धरने के दौरान ज्वाइंट एक्शन कमेटी पंजाब के कनवीनर मौलाना मुफ्ती मोहम्मद खलील कासमी ने कहा कि केंद्र सरकार के CAA वाले काले कानून के विरोध का काफिला लगातार बढ़ रहा है। 16 फरवरी को मालेरकोटला की अनाज मंडी में रैली की जाएगी।

मौलवी भी दे रहे संघर्ष को समर्थन

CAA के खिलाफ मस्जिदों में बैठकों का सिलसिला जारी है। मुफ्ती-ए-पंजाब मुफ्ती इरतका उल कांधलवी ने कहा कि इलाके के सभी मौलवी भी इस संघर्ष में शामिल होंं।

उमर खालिद ने भी की रैली

CAA के खिलाफ चल रहे संघर्ष तहत तीन जनवरी को जेएनयू के पूर्व विद्यार्थी नेता उमर खालिद मालेरकोटला संबोधन करने के लिए पहुंचे थे। वहीं 25 जनवरी को CAA के खिलाफ मालेरकोटला बंद रहा।

786 चौक मोहल्ले ने निकाला मार्च

ज्वाइंट एक्शन कमेटी के क्रमवार संघर्ष के तहत वीरवार को मोहल्ला चोहत्ता मलेर व 786 चौक मोहल्ले के लोगों ने कैंडल मार्च निकालकर केंद्र सरकार के खिलाफ जताया। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!