जागरण संवाददाता, संगरूर

भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ईकाई गांव उभावाल द्वारा सीनियर उप प्रधान जगीर सिंह की अगुवाई में किसानों ने डीसी कार्यालय के समक्ष धरना दिया गया।

यूनियन नेताओं ने कहा कि 17 अक्टूबर को गांव उभावाल का किसान वीरेंद्र सिंह की दिल्ली के टीकरी बार्डर पर चल रहे संघर्ष के दौरान मौत हो गई थी। उसकी लाश को सरकारी अस्पताल की मोर्चरी घर में रखा गया था। मंगलवार को पोस्टमार्टम करवा दिया गया है।

उन्होंने प्रशासन से मांग की कि मृतक के परिवार को दस लाख रुपये मुआवजा, सरकारी नौकरी, परिवार का सारा कर्जा माफ किया जाए। किसानों ने कहा कि जब तक तीनों खेती कानून रद नहीं होते तब तक संघर्ष जारी रहेगा। तहसीलदार इंद्रकुमार ने किसानों का मांग पत्र प्राप्त करके भरोसा दिलाया कि उनका केस सरकार के पास भेजा जाएगा, जिसकी मंजूरी मिलने के बाद बनती मदद मृतक के परिवार को मुहैया करवा दी जाएगी। इस उपरांत किसानों ने धरना समाप्त कर दिया व संस्कार करने पर सहमति जताई। मौके पर रणजीत सिंह, गुरबिदर सिंह, गोबिदर सिंह लोंगोवाल, जगसीर सिंह, प्रगट सिंह, रणधीर सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran