जागरण संवाददाता, संगरूर : ग्रामीण विकास व पंचायत विभाग के तहत कांट्रैक्ट पर कार्यरत मनरेगा मुलाजिमों द्वारा नौ जुलाई से शुरु की हड़ताल बुधवार को 25वें दिन भी जारी रही। मनरेगा कर्मचारी यूनियन ने बुधवार को हाथों में तख्तियां लेकर डीसी दफ्तर से लाल बत्ती चौक तक रोष मार्च निकाला पंजाब सरकार के खिलाफ जमकर रोष प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर संबोधित करते सीनियर उप प्रधान रणधीर सिंह धीमान ने कहा कि पंजाब सरकार ने सत्ता में आने से पहले मुलाजिमों को पक्का करने का वादा किया था किंतु साढे़ चार वर्ष गुजरने के बावजूद उन्हें पक्का नहीं किया गया। 30 जुलाई को सांझा मुलाजिम फ्रंट की बैठक में मुलाजिमों की मांगों का कोई हल नहीं किया गया। सरकार प्रशांत किशोर के कहने पर 66173 मुलाजिम पक्के करने का झूठा प्रचार कर रही है, जिसके रोष में की हड़ताल की वजह से ग्रामीण क्षेत्र के 18 लाख मनरेगा रोजगार प्राप्त मजदूरों के घरों के चूल्हे ठंडे पड़े हैं। पंजाब सरकार को नींद से जगाने के लिए मनरेगा कर्मचारी यूनियन नौ अगस्त को कैबिनेट सब कमेटी के चेयरमैन ब्रहम महिंद्रा की पटियाला स्थित रिहायश का घेराव किया जाएगा। नेताओं ने एलान किया कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होती, संघर्ष जारी रहेगा। इस मौके जीवन कुमार, जसवीर सिंह, गुरमीत सिंह, अमनदीप सिंह, तरसेम चंद, गुरजीत सिंह, बलजीत सिंह, ऋषिपाल, सोनू कुमार, शमशेर सिंह आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran