संवाद सूत्र, लहरागागा (संगरूर)

कृषि कानूनों को रद करवाने की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां ब्लाक लहरा के प्रधान धरमिदर सिंह पिशौर के नेतृत्व में चल रहा धरना 226वें दिन जारी रहा। इसमें बड़ी संख्या में नौजवान, किसान, महिलाओं व बुजुर्गों ने हिस्सा लेकर केंद्र के खिलाफ रोष व्यक्त किया। किसान नेता सूबा सिंह, रामचंद सिंह, जरनैल सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों को जानबूझकर परेशान कर रही है। यदि किसान महामारी फैलाने का कारण बन रहे हैं, तो उनकी मांगें मानकर घर क्यों नहीं भेजा जा रहा है। सरकार का काम देश निवासियों की आपदा, बीमारी से सुरक्षा करना होता है लेकिन केंद्र सरकार खेती कानूनों को लागू करने की अपनी जिद पर अड़ी है जिसे कभी सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने किसानों को किसी हथकंडे के तहत परेशान करने की कोशिश की तो मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। बड़ी संख्या में किसान उपस्थित थे।