जागरण संवाददाता, संगरूर

सिविल सर्जन डा. अंजना गुप्ता के निर्देश पर जिले की समूह सेहत संस्थाओं में विश्व हेपेटाइटिस डे मनाया गया। सिविल सर्जन कार्यालय संगरूर में करवाए गए प्रोग्राम के दौरान सहायक सिविल सर्जन डा. जगमोहन सिंह एमडी ने कहा कि हेपेटाइटिस वायरल रोग है जो ए, बी,सी, डी व ई पांच किस्म का होता है। यह किसी का संक्रमित खून चढ़ाने, असुरक्षित शारीरिक संबंध, जन्म समय मां से बच्चे को होने और एक सूई से इंजेक्शन लगाने से होता है। हेपेटाइटिस उन लोगों को होता है जो हेपेटाइटिस बी से ग्रस्त होते हैं। मानसून के सीजन में हेपेटाइटिस ए व ई के फैलने का खतरा अधिक होता है क्योंकि यह दूषित पानी, खाना व सफाई की कमी से फैलता है।

जिला सेहत अफसर डा. एसजे सिंह व सिविल सर्जन डा. अंजना गुप्ता ने कहा कि हेपेटाइटिस सी का इलाज जिला सेहत केंद्रों में फ्री होता है। अब तक जिले में 12 हजार हेपेटाइटिस सी के मरीजों का इलाज हो चुका है। हेपेटाइटिस सी रोग से ठीक हुए चार मरीजों को सर्टिफिकेट बांटे गए। मौके पर जिला टीकाकरण अफसर डा. संजय माथुर, डा. उपासना जिला एपिडम्योलोजिस्ट, लखविदर सिंह व सरोज रानी दोनों डिप्टी मास मीडिया अफसर, असविदर कुमार जिला फार्मेसी अफसर, करण फार्मेसी अफसर आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran