जागरण टीम, संगरूर

शहर में करोड़ों रुपये की लागत से डाला सीवरेज बरसात के समय दम तोड़ता दिखाई दे रहा है। वीरवार को दिन भर हुई बरसात के कारण शहर जलमग्न हो गया। जिले भर में जलभराव की समस्या के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बरसात के कारण जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली, वहीं बरसात शहर निवासियों के लिए आफत बन गई। जिले मे करीब 30 एमएम बरसात हुई। धूरी में वीरवार सुबह दस बजे से शुरू हुई मूसलाधार बारिश ने शहर के कई हिस्सों को जलमग्न कर दिया। लोगों को आने जाने में परेशानियों का सामना करना पड़ा।

बस स्टैंड रोड, पुरानी अनाज मंडी, सदर बाजार, पाठशाला रोड, मालेरकोटला रोड, पुरानी सब्जी मंडी ने नदी का रूप ले लिया। दो-दो फीट जमे पानी में वाहन चलाना मुश्किल हो रहा था। अधिकतर लोग छतरी लेकर पैदल अपनी मंजिल की तरफ रवाना हुए। दुकानों व घरों में भरे पानी को बाल्टियों व पंप से निकाला गया।

--------------------

आप ने की नारेबाजी आम आदमी पार्टी के डा. अनवर भसौड़ व सतिदर सिंह चटठा ने अपनी टीम सहित पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए निकासी की मांग की। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा करोड़ों रूपये की लागत से विकास कार्य करवाने के दावे किए जा रहे हैं। जबकि शहर में गंदे पानी की निकासी के लिए कोई बंदोबस्त नहीं है।

------------- किसान बोले, फसल के लिए नुकसानदायक है बारिश

लहरागागा : शहर में सुबह से पड़ रही बारिश की वजह से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। तहसील रोड, कालोनी रोड, एसडीएम कार्यालय रोड, पुरानी गोशाला रोड पर पानी का जलभराव होने से रास्ता बंद हो गया। दुकानदारों ने अपनी दुकानें बड़ी मुश्किल से खोलीं। किसान पाल सिंह, अजैब सिंह, नैब सिंह व रामपाल ने बताया कि सितंबर महीने में बारिश फसल के लिए नुकसानदायक है क्योंकि इस समय धान को दाने पड़ रहे हैं। बारिश का पानी बल्लियां में घुसकर दाने को काला बना देगा जिससे आगे चलकर मंडियों में खरीद पर असर पड़ेगा। दूसरी तरफ नरमे की फसल को इसका सीधा नुकसान है। इस समय नरमे की फसल मंडियों में आने लगा है। किसानों को बहुत सी उम्मीदें हैं। लेकिन अधिक बारिश होने से नरमे के फल पर कालिख पड़ जाएगी। खेतों में जलभराव होने से नरमे के पौधे सूख जाएंगे। जिससे किसानों को नुकसान उठाना पड़ेगा। ---------------- अमरगढ़ में दो घंटे हुई बारिश, कई जगह मिट्टी धंसी अमरगढ़ : वीरवार को दो घंटे पड़ी भारी बरसात ने शहर में हुए करोड़ों रूपये के विकास कार्यों की पोल खोलकर रख दी है। जगह-जगह सीवरेज लाइनों पर डाली मिट्टी दबने से कई वाहन फंस गए। धूरी- अमरगढ़ रोड पर इंडेन गैस वाला ट्रक पलटने से बाल-बाल बचा। राहगीरों जगदेव सिंह, गमदूर सिंह व हरदीप सिंह ने बताया कि शहर में कोई भी काम ठीक तरीके से नहीं हुआ। केवल पैसों की बर्बादी ही की गई है। गत समय डाली गईं सीवरेज लाइन जगह-जगह से दब चुकी है जिससे आए दिन वाहन फंसते रहते हैं। उन्होंने बताया कि मालेरकोटला- नाभा रोड को जाती सड़क के दोनों किनारों पर गहरे गड्ढे बन गए हैं। जिसमें किसी भी समय बड़ा हादसा हो सकता है। उन्होंने प्रशासन से मांग की कि गड्डों की मिट्टी को अच्छी तरह से दबाकर समतल किया जाए।

Edited By: Jagran