संवाद सूत्र, संगरूर :

जिला संगरूर में 18 दिन के बाद कोरोना ने एक बार फिर दस्तक दे दी है। मालेरकोटला इलाके की आशा वर्कर कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद सेहत विभाग में हड़कंप मच गया है, क्योंकि बताया जा रहा है कि यह आशा वर्कर अस्पताल मालेरकोटला सहित अन्य जगहों पर आती-जाती रही है। महिला आशा वर्कर का सैंपल रविवार को जांच के लिए भेजा गया था। इससे पहले कोरोना के संगरूर जिले में 91 मरीज सामने आए थे। इन सभी मरीज को कोरोना मुक्त होने के बाद घरों को भेज दिया गया था, जिसके बाद संगरूर कोरोना मुक्त जिला करार दे दिया गया था। एसडीएम मालेरकोटला बिक्रमजीत सिंह पांथे ने बताया कि रूटीन सैंप्लिग के आधार पर ही आशा वर्कर का सैंपल जांच के लिए शनिवार को भेजा गया था। सोमवार को आशा वर्कर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उसे तुरंत सिविल अस्पताल मालेरकोटला में भर्ती करवा दिया गया है। अभी तक आशा वर्कर के प्राइमरी संपर्क में आए दस पारिवारिक सदस्यों को एकांतवास में रखा गया है। इनके सैंपल लेने के बाद जांच के लिए भेजे जाएंगे। जांच रिपोर्ट आने के बाद अगला कदम उठाया जाएगा। नोडल अफसर डा. रविदर कौर कलेर ने बताया कि जिले से अब तक 3227 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। 3001 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हो चुकी है, जबकि 124 सैंपलों की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!