जागरण संवाददाता, भाखड़ा बांध (नंगल)

भाखड़ा बाध के कैचमेंट एरिया में पड़ रही बारिशों के वजह से पानी की आवक बढ़ गई है। पिछले 24 घटे के दौरान पानी की आवक 51007 क्यूसेक होने के चलते 24 घटे में जलस्तर 2.15 फीट बढ़ गया है। बढ़ी आवक के चलते डैम का जलस्तर 1630.32 फीट तक पहुंच गया है। बता दें कि पिछले साल आज के दिन डैम का जलस्तर 1665.30 फीट था जबकि पिछले साल आज के दिन पानी की आवक 33830 क्यूसिक थी। पानी की आवक में इजाफे के कारण यह उम्मीद जगी है कि अब डैम में अनिवार्य जलस्तर का लक्ष्य पूरा हो जाएगा। बाध के पार प्लाटों से छोड़े गए 16354 क्यूसेक पानी से 127.18 लाख यूनिट बिजली का उत्पादन किया गया है। ब्यास नदी से पानी की आवक 8357 क्यूसिक दर्ज की गई है। गौरतलब है कि पिछले दो माह में कमजोर मानसून व कम बारिशों के कारण भाखड़ा ब्यास प्रबंध बोर्ड ने जलस्तर को इतिहास संकट में घोषित कर दिया था, लेकिन अब पानी की आवक अधिक हो जाने के कारण सभी के चेहरे खिले हुए हैं क्योंकि प्रबल संभावनाएं बन चुकी हैं कि विभिन्न प्रातों पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली को वर्ष भर बिजली व पानी की सप्लाई करने के लिए डैम में पानी का अनिवार्य स्तर पूरा हो जाएगा। इस समय डैम का जलस्तर पिछले साल आज के दिन की तुलना में 34.98 फीट कम है। 24 अगस्त: 6 बजे कंट्रोल रूम में दर्ज भाखड़ा बांध के आंकड़े---

24-08-2018 24-08-2017

जल स्तर 1630.32 फीट 1665.30 फीट

पानी की आवक 51007 क्यूसिक 33830 क्यूसेक

आऊट फ्लो 16354 क्यूसिक 20597 क्यूसिक

ब्यास नदी से आवक 8357 क्यूसिक 8470 क्यूसिक

विद्युत उत्पादन 127.18 लाख यूनिट 179.44 लाख यूनिट

24 घंटे में जल स्तर

में वृद्धि 2.15 फीट 0.68 फीट

Posted By: Jagran