इंप्लाइज फेडरेशन पंजाब राज्य बिजली विभाग थर्मल यूनिट ने मांगों के हक में रूपनगर शहर में रोष मार्च निकाला। रोष मार्च में कांट्रैक्ट कर्मचारी यूनियन, पेंशनर वेलफेयर फेडरेशन और संचालन हलका रूपनगर की तरफ से कर्मचारी शामिल हुए। श्रीराम लीला मैदान में शुरू हुए रोष मार्च में पंजाब सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई। यह मार्च बेला चौक (शहीद भगत सिंह चौक), कॉलेज रोड से होता हुआ रोष मार्च आंबेडकर चौक पहुंचा। रोष मार्च सचिवालय के समक्ष समाप्त हुआ। इस दौरान संगठन के नुमाइंदों ने मुख्यमंत्री पंजाब के नाम प्रशासन को एक मांगपत्र भी सौंपा। संगठन के सरपरस्त और मुलाजिम फ्रंट पंजाब के महासचिव हरमेश सिंह धीमान ने कहा कि पंजाब सरकार कर्मचारियों को जनवरी 2018, जुलाई 2018, जनवरी 2019 और जुलाई 2019 की महंगाई भत्ते की किश्तों की अदायगी नहीं कर रही है। इसके अलावा जनवरी 2015 से जुलाई 2019 तक भी महंगाई भत्ते का बकाया रिलीज नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल खजाना खाली होने की बात कर रहे हैं, जबकि पंजाब सरकार के मंत्रिमंडल के सदस्यों के भत्तों में बढ़ोतरी करने के साथ करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। कैप्टन सरकार ने विधानसभा के चुनाव मौके यह वादा किया था कि छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट छह माह में लागू कर दी जाएगी, लेकिन ढाई साल का समय बीतने के बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है। ये हैं इंप्लाइज फेडरेशन की मांगें . कच्चे मुलाजिमों को पक्का करना।

. बराबर काम बराबर वेतन के फैसले को लागू करना।

. थर्मल प्लांट रूपनगर में ठेकेदारी सिस्टम खत्म करके कर्मियों को सीधा संस्थान में भर्ती करना।

. बिजली कर्मचारियों के पे बैंड में दिसंबर 2011 से बढ़ोतरी करना।

. थर्मल प्लांट रूपनगर के यूनिटों को पूरी क्षमता से चलाना।

. नए सुपर क्रिटिकल थर्मल प्लांटों की स्थापना करना।

. नए भर्ती कर्मचारियों को परख काल के दौरान पूरा वेतन व भत्ते देना।

. सीआरए 281-13 के तहत भर्ती कर्मचारियों को रेगुलर करना आदि मांगें शामिल हैं

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!