संवाद सूत्र, घनौली : कोरोना महामारी के कारण मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदर सिंह ने प्रदेश में बाहर के राज्यों के व्यक्तियों के दाखिले पर पाबंदी लगाई हुई है। कुछ शर्तों पर ही दूसरे राज्यों के व्यक्ति पंजाब में दाखिल हो सकते हैं। इसके तहत जिला प्रशासन रूपनगर द्वारा हिमाचल प्रदेश के बार्डर के साथ लगते अंतरराज्यीय नाकों पर सख्ती बढ़ा दी गई है। इनमें एक नाका भरतगढ़ से दबोटा रोड पर गांव ककराला के नजदीक लगाया गया है।

नाके पर तैनात नाका ड्यूटी मजिस्ट्रेट लेक्चरर अरविदर कुमार ने बताया कि उनके द्वारा हिमाचल प्रदेश की साइड से आने वाले वाहन सवार व्यक्तियों से पंजाब सरकार और जिला मजिस्ट्रेट रूपनगर द्वारा कोविड-19 कोरोना महामारी संबंधी निर्धारित शर्तों जैसे ई पास, 72 घंटे पहले तक की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट, दो सप्ताह पहले तक की कोरोना वैक्सीन के बारे में जानकारी ली जाती है। जो यह शर्तें पूरी करता हो उसको पंजाब में दाखिल होने दिया जाता है, नहीं तो उसे वापस भेज दिया जाता है। इसको रजिस्टर पर नोट किया जाता है। इसके अलावा गाड़ी नंबर, वाहन सवार कहां से आया है, उसने कहां जाना है, यह भी रिकार्ड किया जाता है। तीन शिफ्टों में शिक्षा विभाग के लेक्चरर, मास्टरों की विभिन्न ड्यूटियां लगाईं गई हैं। इस मौके पर सहायक जसपाल सिंह पीटीआइ, पंजाब पुलिस के जवान एएसआइ कुलवंत सिंह, हवलदार जतिदर सिंह उपस्थित थे।