जागरण संवाददाता, नंगल

निकटवर्ती हिमाचल के जिला ऊना के उपायुक्त राकेश कुमार प्रजापति ने जिला के हरोली क्षेत्र के इलाके जननी, कुठारबीत तथा पोलिया बीत में चल रहे स्टोन क्रशर का औचक निरीक्षण करके तीन स्टोन क्रशर को सील कर दिए हैं। इसके अलावा उन्होंने क्षेत्र में चल रहे खनन कायरें को भी चेक किया। इस दौरान उनके साथ पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा, खनन अधिकारी कुलभूषण शर्मा भी साथ थे। स्वां नदी इलाके से सटे स्थानों पर उपायुक्त ने खनन गतिविधयों में लगे स्टोन क्रशर की जाच की तथा तीन स्टोन क्रशर आरएस ग्रिट कुठारबीत, डा. लखविंद्र सिंह स्टोन क्त्रशर पोलिया बीत तथा आरएस स्टोन क्रशर गोंदपुर बुल्ला को सील कर दिया। सुबह 11 बजे से शुरू हुई यह कार्रवाई सायं पाच बजे तक चलती रही। इस दौरान डीसी ने इस क्षेत्र के आसपास चल रही माइनिंग की गतिविधियों को चैक किया गया तथा कहा कि माइनिंग वाले क्षेत्रों में जमीन की निशानदेही कर यह पता लगाया जाएगा कि यह माइनिंग निजी या फिर सरकारी भूमि में की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिन निजी भूमि मालिकों द्वारा खनन के लिए भूमि बिना किसी लीज के दी है तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी।

उपायुक्त ने कहा कि जिला की सभी जेसीवी मशीनों तथा पोकलेन के ऊपर मालिक का नाम तथा मोबाइल फोन नंबर लिखना अनिवार्य किया जाएगा ताकि जेसीवी व पोकलेन की पूरी जानकारी सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध रहे। उन्होंने कहा कि माइनिंग वाले क्षेत्रों की निशानदेही के लिए संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार, नायब तहसीलदार तथा पुलिस अधिकारियों को मौके पर ही निर्देश देते हुए इसे दो सप्ताह के भीतर पूरा करने को कहा है।

By Jagran