संवाद सहयोगी, रूपनगर :

जिले में शरारती तत्वों ने चुनावी माहौल को खराब करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में कुछ शरारती तत्वों द्वारा गांव पुरखाली से बिदरख के रास्ते में पड़ती नदी पर पुल की आधारशिला को गिरा दिया है। कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा इस आधारशिला को रखा गया था। उधर, इस मामले को लेकर सूचना मिलते ही डीसी ने लोक निर्माण विभाग को जल्द शिकायत दर्ज करवाने के निर्देश जारी किए हैं।

उल्लेखनीय है कि हलका रूपनगर के अंतर्गत पड़ते गांव पुरखाली से बिदरख के रास्ते में पड़ती नदी पर पुल बनाने की मांग पिछले लगभग डेढ़ दशक से उठती रही है। इस मांग को जायज मानते हुए हलका चमकौर साहिब के विधायक चरणजीत सिंह चन्नी ने मुख्यमंत्री बनते ही विधानसभा चुनाव 2022 की घोषणा से ठीक पहले इस नदी पर बनाए जाने वाले पुल की आधारशिला रखी थी। यह आधारशिला 18 दिसंबर 2021 को रखी गई थी। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने आठ करोड़ 24 लाख रूपये की राशि जारी करने के साथ ठेकेदार को निर्माण का कार्य तक अलाट कर दिया था। यही नहीं 82 मीटर लंबे व 12 मीटर चौड़े इस पुल को नौ माह के भीतर पूरा करने का दावा तक किया गया था। हालांकि अभी तक इसका निर्माण शुरू नहीं हो पाया है लेकिन लेबर के रहने व निर्माण का सामन रखने के लिए कमरे जरूर बनाने शुरू कर दिए गए हैं जिनकी चारदीवारी भी बनाई जा रही है। पुरखाली व बिदरख के लोगों का कहना है कि शरारती तत्वों के द्वारा हमारे गांवों को बदनाम करने की साजिश रची गई है। इस बारे डीसी सोनाली गिरी ने कहा कि इस मामले को गंभीरता से लेते हुए लोक निर्माण विभाग को मामला दर्ज करवाने के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। पुलिस ने किया मौके का दौरा

आधारशिला गिराए जाने की सूचना मिलने के बाद पुरखाली चौकी के इंचार्ज लेखा सिंह तथा एसएचओ रूपनगर अमरदीप सिंह द्वारा मौके का निरीक्षण भी किया जा चुका है लेकिन अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है।

Edited By: Jagran