सुभाष शर्मा, नंगल

नंगल में नेशनल हाईवे एक्सटेंशन 503 के रास्ते बन रहे फोरलेन फ्लाईओवर का काम चार साल बाद भी पूरा होता नजर नहीं आ रहा है। 82.77 करोड़ की लागत से बन रहे फोरलेन प्रोजेक्ट का काम आठ जून 2018 को शुरू हुआ था। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने की तय समय अवधि सात जून 2020 थी। भारत सरकार के सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय की ओर से बनाए जा रहे इस फ्लाईओवर को समय पर जरूरी क्लीयरेंस न मिल पाने के कारण अभी तक यह प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो पाया है। परिणामस्वरूप रोजाना नंगल में ट्रैफिक जाम के कारण 50 हजार से अधिक लोग परेशान हो रहे हैं।

गौर हो कि नंगल डैम के ऊपर से ही गुजरने वाले नार्दर्न रेलवे ट्रैक से होते हुए हिमाचल की ओर आने-जाने वाली रेल गाड़ियों के कारण दिन में 20 बार एक साथ तीन फाटक बंद होते हैं। ऐसे में फ्लाईओवर के अभाव के कारण ट्रैफिक जाम की समस्या हजारों लोगों के लिए जी का जंजाल बन चुकी है। पहली बाधा नहीं हो रही है दूर

रेलवे रोड में जैसे ही फ्लाईओवर शुरू होता है तब वहां बरकरार पहली बाधा अभी तक दूर हो पाई है। इस जगह पर श्री राम कुष्ठ आश्रम को 19 सितंबर 2020 को बल पूर्वक ध्वस्त किया गया था। इसके बाद आश्रम का निर्माण आज तक पूरा नहीं हो सका है। फ्लाईओवर का काम तो लगभग 80 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है, लेकिन चार साल बाद भी बरकरार बाधाएं दूर नहीं हो सकी हैं। विगत में सरकारों की व्यापक जनहित के प्रति अपनाई कथित अनदेखी के चलते ही ट्रैफिक जाम की विकट परेशानी बरकरार है। आवाज उठाते आ रहे इलाका वासियों प्रवीन द्विवेदी, राजेंद्र सोनी, बीएस डाड, प्रमोद पुरी, सुरेश प्रभाकर, राजेंद्र सिंह आदि का यह मानना है कि जब फ्लाईओवर शुरू हुआ था उस समय ही यदि सभी बाधाओं व जरूरी कार्यों पर काम शुरू किया गया होता तो आज तक फ्लाईओवर चालू हो सकता था। आज भी आश्रम की इमारत निर्माणाधीन है। बन रहे आश्रम में अभी तक नहीं हैं जरूरी सुविधाएं

शनिवार को दैनिक जागरण की ओर से किए दौरे में पाया गया है कि अभी भी करीब पांच कक्षों का निर्माण पूरा नहीं हो पाया है, न ही आश्रम में बिजली, पानी, मार्ग व प्रसाधन गृहों की सुविधा उपलब्ध हो सकी है। ऐसे में कुष्ठ रोगियों को यहां पनाह देना बड़ी चुनौती के समान है। नगर कौंसिल नंगल की ओर से 12 लाख की लागत से बनाए जाने वाले प्रसाधन गृहों व शौचालयों के पारित प्रस्ताव को अभी तक चंडीगढ़ से सरकार की मंजूरी नहीं मिली है। गौरतलब है कि एक मई को पंजाब सरकार ने बकायदा फ्लाईओवर का स्टेटस बताते हुए यह कहा था कि 15 दिन के अंदर यानि 15 मई को श्री राम कुष्ठ आश्रम की नई इमारत का काम मुकम्मल हो जाएगा। इमारत बना रहे कांट्रेक्टर सुरेंद्र पम्मा ने बताया कि 56 लाख की लागत से शुरू हुआ काम अंतिम चरण पर है। पांच कमरों का शेष कार्य 10 जून तक पूरा हो जाएगा। फ्लाईओवर के लोकार्पण की बेसब्री से प्रतीक्षा

नंगल डैम के ऊपर से ही टू- लेन मार्ग से होते हुए हिमाचल की ओर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तरांचल आदि प्रांतों के हजारों लोग आवागमन करते हैं। ऐसे में यह हजारों लोग रोज तंग एनएच के टू-लेन मार्ग पर जाम लगने की वजह से परेशानी झेल रहे हैं। महंगाई के दौर में कीमती समय के साथ ही महंगे पेट्रोल व डीजल की बर्बादी भी यहां चरम सीमा पर है। ऐसे में बेसब्री से यह प्रतीक्षा की जा रही है कि जल्द नंगल में बन रहे फोरलेन फ्लाईओवर के कार्य को गंभीरता दिखा कर पूरा करवाया जाए। जाम के कारण झील के दोनों तरफ बसे नंगल शहर का आपसी संपर्क टूट चुका है। एनएच के रास्ते नार्दर्न रेलवे के सी-88 फाटक को पूरी तरह से बंद कर दिए जाने के कारण लोग बस स्टैंड से वंचित हो चुके हैं। हिमाचल की तरफ दिल्ली आदि प्रांतों की तरफ आने-जाने वाली लांग रूट की बसें शहर में नहीं आ रही है। इन हालातों में शहर की आर्थिक स्थिति डामाडोल होती जा रही है। 15 दिन के अंदर बन जाएगी आश्रम की नई इमारत

महकमा एनएच व पीडब्ल्यू डी के एसडीओ लवलीन सिंह ने बताया कि श्री राम कुष्ठ आश्रम की नई इमारत का काम 15 दिन के भीतर खत्म हो जाएगा। वहां जरूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाने में बाधाएं दूर की जा रही हैं। नंगल नगर कौंसिल ने शौचालय बनाने का प्रस्ताव पारित करके सरकार को भेज रखा है। सरकार की सहमति मिलते ही शौचालय बना दिए जाएंगे। इससे पहले अस्थाई इंतजाम कर दिया जाएगा।

Edited By: Jagran