सुभाष शर्मा, नंगल: शहर के नया नंगल की एनएफएल कॉलोनी के मध्य से राष्ट्रीय उच्च मार्ग के डायवर्ट होने के बाद से शुरू हो चुकी पानी की लीकेज अभी तक बंद नहीं हो पाई है। पिछले 24 दिन से हो रही लीकेज को रोकना तो एक तरफ, नगर प्रशासन सहित अन्य तीन विभागों को यह भी नहीं पता चल सका है कि पानी की पाइप लाइन किसने डलवाई है। लीकेज के कारण जहा रोजाना हजारों लीटर पानी बर्बाद हो रहा है, वहीं सड़क मार्ग भी टूट चुका है। इससे नॉर्दन रेलवे के ट्रैक को भी किसी भी समय बड़ा नुकसान पहुंच सकता है। नगर कौंसिल के मुख्यालय को जाने वाले इस मार्ग से प्रतिदिन दूर प्रातों की ओर आने-जाने वाले वाहन भी हजारों की संख्या में गुजर रहे हैं। इन हालातों में पड़ चुके गहरे गढ्डे इंटरस्टेट ट्रैफिक के लिए भी परेशानी बन गए हैं। बता दें कि गत सात सितंबर सोमवार को नंगल आईं डीसी रूपनगर सोनाली गिरी ने भी यहा पानी की लीकेज के कारण पड़े गढ्डों को ठीक करने के निर्देश दिए थे, लेकिन अभी तक पाइप ठीक नहीं हो सका है। कारण यह है कि अभी तक यही पता नहीं चला है कि पाइप लाइन किस की है। नगर कौंसिल के ईओ मनजिंदर सिंह पहले ही कह चुके हैं कि पाइप लाइन नगर कौंसिल की नहीं है। वहीं एनएफएल प्रबंधन तथा नॉर्दन रेलवे के अधिकारी जाच के बाद यह स्पष्ट कर चुके हैं कि पानी की लीकेज उनकी लाइनों में से नहीं हो रही है। शनिवार को भी एनएफएल के अधिकारी मौके पर पहुंचकर जाच में जुटे रहे, लेकिन मसला हल नहीं हो सका है। एनएफएल के डीजीएम एचआर तथा नॉर्दन रेलवे के इंस्पेक्टर संदीप चौहान के अनुसार लीक हो रही पाइप लाइन उनके संस्थानों की नहीं है, फिर भी इसे ठीक करने के प्रयास जारी हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!