संवाद सूत्र, मोरिडा

मोरिडा अनाज मंडी में पेयजल और शौचालयों के उचित प्रबंधों की कमी के कारण किसान और मजदूर परेशानियों का सामना कर रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन लक्खोवाल के ब्लॉक प्रधान दलजीत सिंह चलाकी, करनैल सिंह डूमछेड़ी, गुरचरन सिंह ढोलणमाजरा, रणधीर सिंह माजरी, संतोख सिंह, महिदर सिंह रौणी आदि ने बताया कि इस वर्ष तो अनाज मंडी मोरिडा में किए गए प्रबंधों का गत वर्ष की अपेक्षा काफी बुरा हाल है। मंडी में किसानों को दूषित पेयजल दिया जा रहा है। इसके साथ साथ शौचालयों की हालत काफी दयनीय है और न ही इस वर्ष मंडी में पोर्टेबल शौचालयों को चालू किया गया है, जिसके कारण मंडी में आने वाले किसान और मजदूरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस मौके दलजीत सिंह चलाकी ने बताया कि उन्होंने जब अनाज मंडी का दौरा किया तो देखा कि किसी ने पेयजल में हाथ धोने के बाद उसे दोबारा पानी की टंकी में डाल दिया गया। इस संबंधी यूनियन सदस्यों द्वारा एतराज जताए जाने के बाद पानी की टंकी खाली करवाई गई, जबकि मंडी में लगाया गया पेयजल का वाटर कूलर गत काफी समय से खराब हालत में है। मंडी का मुख्य गेट और चारदीवारी लगभग ढेरी हो चुकी है। इस संबंधी किसान नेताओं ने कहा कि सचिव मार्केट कमेटी की हाजरी भी सीजन के दौरान बहुत कम देखने को मिल रही है और वह जल्द ही अपने दफ्तर में से घर के लिए रवाना हो जाते हैं। इस संबंधी जब सचिव मार्केट कमेटी मोरिडा जय विजय के साथ बात करनी चाही, तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

Posted By: Jagran