जागरण संवाददाता, नंगल : दलितों के मसीहा, भारतीय संविधान के निर्माता भारत रतन भारत रतन बाबा साहेब डॉ. भीम राव अंबेडकर के 61वें परिनिर्वाण दिवस पर भव्य धार्मिक कार्यक्रम करके श्रद्धांजलि अर्पित की गई। श्री गुरु रविदास मंदिर पुराना गुरुद्वारा में डॉ. भीम राव अंबेडकर मिशन सोसायटी के अध्यक्ष चनण सिंह के नेतृत्व में हुए कार्यक्रम में दलितों को डॉ. साहेब की विचारधारा से जोड़ने व उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने के प्रयासों में तेजी लाने का संकल्प दोहराया। सोसायटी के आत्मा राम, बिकानू राम, सरदारी लाल, अशोक कुमार ने कहा कि डॉ. बीआर अंबेडकर के सिद्धांतों पर चलते हुए सामाजिक भाईचारा कायम रखा जा सकता है। उन्होंने सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक चेतना का संदेश भी दिया।

वक्ताओं ने कहा कि आज जरूरत है सभी को एकजुट होकर बाबा साहेब के सपनों को साकार करने में सहयोग दें। उन्होंने कहा कि 6 दिसंबर 1856 को डॉ. बीआर अंबेडकर ने इस दुनिया को अलविदा कहा था। उनके बनाए सिद्धांतों पर चलते हुए आज समाज व देश तरक्की कर रहा है। इस अवसर पर दौलत राम, तरसेम चंद, यशपाल, मनजीत कुमार, निर्मल सिंह, संतोख सिंह, स्वर्ण सिंह, सुरेंद्र कुमार, शीश कुमार, सरदारी लाल एसडीओ, राजेश कुमार, बनारसी दास, संसार चंद, सेवा सिंह, सुरेंद्र पाल आदि ने भी डा. साहेब को श्रद्धासुमन भेंट करते हुए दलित वर्ग के उत्थान के लिए किए जा रहे प्रयासों में तेजी लाने का आह्वान किया।

By Jagran