संवाद सहयोगी, नूरपुरबेदी: कुल हिद खेत मजदूर यूनियन ब्लाक नूरपुरबेदी ने केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय नई दिल्ली द्वारा मनरेगा मजदूरों संबंधी जारी जाति आधारित एडवाइजरी को वापस लिए जाने की मांग को लेकर बीडीपीओ को मांगपत्र सौंपा। यूनियन के नेता गीताराम करतारपुर ने कहा कि केंद्रीय मंत्रालय ने मनरेगा मजदूरों संबंधी एडवाइजरी जारी कर लोगों को जातियों में बांटकर उनकी एकता को तोड़ने का एजेंडा आगे बढ़ाया है। मनरेगा मजदूरों को जाति आधार पर पिछड़ी श्रेणियों, पिछड़े कबीलों व अनुसूचित जाति सहित अन्य कैटागरी बनाकर उसके मुताबिक उनका मेहनताना तय किया जाए। उनकी जत्थेबंदी मनरेगा मजदूरों का जाति के आधार पर मेहनताना तय करने और उन्हे समाज में बांटने की इस नीति की जोरदार निदा करती है। उक्त एडवाइजरी को वापस लिया जाए व मनरेगा मजदूरों की दिहाड़ी 700 रुपये की जाए। इस मौके पर जगीर सिंह, जगतार सिंह, प्रेम चंद, दर्शन चंद, रोशन लाल, हीरा राणा, सोहन करतारपुर, जयमल सिंह व भजन सिंह भी उपस्थित थे।

Edited By: Jagran