संवाद सूत्र, चमकौर साहिब : मार्केट कमेटी चमकौर साहिब अधीन अनाज मंडियों में अब तक 6 लाख 28 हजार 320 क्विंटल धान की खरीद के विभिन्न एजेंसियों द्वारा खरीदी जा चुकी हैं लेकिन तेज आमद के साथ सुस्त रफ्तार लिफ्टिग के कारण मंडियों में धान की बोरियों के अंबार लग गए हैं। करीब चार लाख 50 हजार धान बोरियां मंडियों में खुले आसमान तले लिफ्टिग के इंतजार में पड़ी हैं। जिले की सबसे बड़ी अनाज मंडी में अब तक 3 लाख 58 हजार 980 क्विंटल, बसी गुज्जरां में 36530 क्विंटल, गग्गों में 19860 क्विंटल, बेला में 193110 क्विंटल और हाफिजाबाद में 19840 क्विंटल धान की खरीद की जा चुकी है लेकिन अभी तक सुस्त रफ्तार लिफ्टिग ने मंडी के हालातों को बिगाड़कर रख दिया है। चमकौर साहिब की मंडी में अभी न खरीदे गए धान की ढेर लगे हुए हैं जिसके कारण मंडी में जगह न होने के कारण जगह की समस्या पैदा हो गई है क्योंकि सिर्फ चमकौर साहिब की मंडी में 3 लाख 30 हजार से ऊपर बोरी पड़ी है। मौसम की तबदीली पड़ रही भारी

नमी वाले धान मंडी में अधिक आने के कारण कुछ किसानों द्वारा फड़ों में जगह न होने के कारण सड़कों पर ही धान फैलाया हुआ है। चाहें अब रोजाना आमद कम आने की संभावना है लेकिन चमकौर साहिब के समूह खरीद केंद्रों में 30 हजार क्विंटल के करीब धान आ रहा है। खेती माहिरों के अनुसार मौसम में तबदीली भी धान में नमी का कारण बन रहा है। आढ़ती और शैलर मालिक मनजीत सिंह कंग और आढ़ती केहर सिंह दुगरी ने बताया कि विभिन्न एजेंसियों द्वारा 28 अक्टूबर तक खरीदे धान की अदायगी की जा चुकी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!