संवाद सूत्र, कीरतपुर साहिब : पिछले कई सालों से जल सप्लाई और सैनिटेशन विभाग ने सार्वजनिक स्थानों पर आम लोगों की सुविधा के लिए उनको साफ सुथरा पीने वाला पानी मुहैया करवाने के लिए सरकारी टंकियां लगाई गई थीं। जिससे कि राहगीर लोग पानी पीकर अपनी प्यास बुझाते थे। लेकिन अब जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग ने यह सरकारी नलके यह कह कर बंद कर दिए हैं कि सरकार की तरफ से सार्वजनिक स्थानों पर लगीं सरकारी नल को बंद करने का आदेश आया है। सार्वजनिक स्थानों पर लगी सरकारी नल बंद करने को लेकर लोगों में रोष पाया जा रहा है।

कीरतपुर साहिब के मेन बाजार में गुरुद्वारा शीश महल साहिब के मुख्य गेट के सामने श्री राम मंदिर चौक में पिछले काफी सालों से सरकारी पानी का नल लगा हुआ था, जिसका कि माथा टेकने के लिए बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं, बाजार में सामान खरीदने के लिए आने वाले लोगों और दुकानदारों को काफी फायदा था। सभी इस नल के पानी से अपनी प्यास बुझा लेते थे। लेकिन इस नल में पिछले करीब दो ढाई महीने से पानी न मात्र आ रहा था और अब पिछले करीब 15 दिनों से उस नल में पानी आना बिल्कुल बंद हो गया है। जिससे गुरुद्वारा साहिब में आने वाली संगत और यहां से निकलने वाले राहगीरों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसके अलावा सुबह समय जो संगत शिव मंदिर में जल चढ़ाने के लिए आती है उनको भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि उस नल में अब पानी नहीं आ रहा। सरकारी नल का पानी बंद किए जाने कारण राहगीरों और लोगों में भारी रोष पाया जा रहा है। लोगों ने कहा कि वह कई बार विभाग के अधिकारियों को इस नल के बंद होने संबंधी और इसके खुले पड़े पाइप संबंधी जानकार करवा चुके हैं। लेकिन विभागीय अधिकारी अपना पल्ला यह कह कर झाड़ लेते हैं कि उनकी मरम्मत करने और इस नल का मुख्य जोड़ कहा है उस संबंधी कुछ पता नहीं है और न ही उनको मेंटिनैंस करने के लिए कोई पैसा आता है। लोगों ने मांग की कि चौक में लगा सरकारी नल को जल्द चालू किया जाए। जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग के एसडीओ और जेई का

इस संबंधी जब जल सप्लाई और सेनिटेशन विभाग के एसडीओ हरजीत पाल सिंह और जेई विक्रमजीत सिंह ने कहा कि जितनी भी चौकों में सरकारी नल (स्टैंड पोस्टों) लगीं हुई हैं को सरकार द्वारा जारी आदेश के अनुसार करीब डेढ़ दो साल पहले बंद कर दिया गया क्योंकि इनकी देखभाल करने और रिपेयर करने के लिए काफी मुश्किल आती थी, कुछ नल में पानी आता रहता था, जिनको भी धीरे धीरे बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि जो नल एक बार बंद हो गई उसे दोबारा चालू नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कोई भी व्यक्ति अपने नाम पर पानी का नल का कनैक्शन ले सकता है।

Edited By: Jagran