संवाद सहयोगी, रूपनगर

पंजाब के अंदर सरकारी दावों के बावजूद नशे के बढ़ते कारोबार व रुझान से गुस्साए भाजपाइयों ने रूपनगर के बेला चौक में पंजाब सरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अम¨रदर ¨सह का पुतला फूंका। इससे पहले भाजपाइयों ने गांधी चौक स्थित श्री कृष्णा मंदिर में बैठक भी की। इस बैठक के दौरान वक्ताओं ने कैप्टन सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली । भाजपाइयों ने कैप्टन सरकार के 15 माह के कार्यकाल को पंजाब की बर्बादी का कार्यकाल करार दिया। इस मौके बोलते प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता अर¨वद मित्तल ने मुख्यमंत्री कैप्टन अम¨रदर ¨सह पर सीधा निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव से पहले कैप्टन ने श्री दमदमा साहिब की धरती पर पवित्र गुटका साहिब हाथों में थाम यह घोषणा की थी कि अगर उनकी सरकार आई तो मात्र चार सप्ताह के भीतर पंजाब को पूरी तरह से नशा मुक्त बना दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को पंजाब की सत्ता तो मिल गई, लेकिन कैप्टन द्वारा की गई घोषणा मात्र हवा साबित होकर रह गई है। उन्होंने कहा कि हैरानी तो इस बात की है कि पंजाब में नशे का प्रचलन घटने की बजाय पहले से कई गुणा बढ़ने लगा है जिसका प्रमाण सबके सामने है। उन्होंने कहा कि केवल जून माह के दौरान राज्य अंदर नशे के कारण 26 युवाओं की जान जा चुकी है जबकि पिछले दो सप्ताह में 17 युवा नशे के कारण जान गंवा चुके हैं , जोकि पंजाब सरकार के लिए बड़े शर्म की बात है तथा हर पंजाबी के लिए ¨चता व ¨चतन का विषय है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी हैरानी व शर्म की बात तो यह है कि पंजाब सरकार के किसी मंत्री या प्रतिनिधि अथवा मुख्यमंत्री ने शोकाकुल परिवारों के साथ संवेदना तक जताना जरूरी नहीं समझा।

मित्तल ने कहा कि कैप्टन अम¨रदर ¨सह को तो अपने ही नेताओं की गुहार सुनाई नहीं देती जो बार बार राज्य अंदर बढ़ते नशे की दुहाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि कैप्टन के करीबी व पूर्व मंत्री राणा गुरजीत इस विषय पर कैप्टन का पुतला फूंक सीबीआई या हाई कोर्ट के जज से जांच की मांग कई बार कर चुके हैं, पर इस पर कार्रवाई करना तो दूर उनकी कोई सुनवाई तक नहीं करता। वो तो यहां तक कह चुके हैं कि 36 माह के भीतर सरकार का जाना तय है। मित्तल ने कहा कि इसके अलावा प्रदेश कांग्रेस सचिव मनजीत ¨सह वेरका व अमृतसर के कांग्रेसी पार्षद अजीत ¨सह भाटिया भी बयान दे चुके हैं कि नशा सरेआम बिक रहा है जबकि सरकार कोई कार्रवाई नहीं करती है। इसके अलावा तरनतारन जिले के कांग्रेसी नेता गोरी पहलवान तो यहां तक कह चुके हैं कि शहर का बच्चा बच्चा जानता है कि नशा कहां से आता है, कैसे आता है व कौन बेचता है। इसके अलावा पुलिस, प्रशासन व सरकार को भी इस सारे धंधे बारे खबर है। मित्तल ने कहा कि इसके विपरीत सरकार दावा कर रही है कि 80 फीसदी चिट्टा बिकना बंद हो गया है, लेकिन सरकार को शायद इन दिनों वायरल हो रहे वीडियो बारे खबर नहीं जिसमें पुलिस वाले ही नशे से जुड़े हुए हैं जबकि नशा मुक्ति केंद्र में दाखिल महिलाओं ने डीएसपी व कांस्टेबल पर नशे के प्रसार के गंभीर आरोप लगाए हैं। इन महिलाओं ने यहां तक कहा है कि जब विपक्ष वाले जांच करने आते हैं तो केंद्र को बाहर से ताला लगा दिया जाता है ताकि किसी को पता न चले। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष आज यह कहने लगे हैं कि राज्य अंदर चिट्टा तो पूरी तरह से खत्म हो चुका है लेकिन अब कोई नया मटीरियल पंजाब में आ गया है। मित्तल ने कहा कि कांग्रेसी बताएं कि यह नया मटीरियल पंजाब में कौन लाया व कहां से आया है। मित्तल ने इस पूरे गोरखधंधे की हाईकोर्ट के सि¨टग जज या सीबीआई से जांच करवाने की जोरदार शब्दों में मांग उठाई। इस मौके मंच का संचालन पार्षद हर¨मदर पाल ¨सह वालिया भूंडी द्वारा किया गया। ये भी थे हाजिर

इस मौके प्रदेश कार्यकारिणी मेंबर परवेश गोयल सहित जिला महामंत्री गगन भारद्वाज, जिलाध्यक्ष योगेश सूद, पार्षद रचना लांबा, बलबीर ¨सह, राकेश सहदेव, ज्योति प्रसाद, रमन ¨जदल, एनके शर्मा, महंत लक्षमण दास, महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष अलका गोयल, युवा मोर्चा अध्यक्ष शेर ¨सह, किसान मोर्चा अध्यक्ष राम कुमार सहोड़, संजीव सूद, कृष्ण लाल, रवि हंस, रजत लांबा, अभिजीत आहूजा, राजेश कौशल, सचिन चोपड़ा, दलीप ¨सह, महेश अग्रवाल, मदन मोहन कपिला, शादी लाल, राकेश चोपड़ा, जसबीर ¨सह, वनीशा चोपड़ा, रा¨जदर पाल ¨सह, सौरभ जैन आदि के अलावा बड़ी संख्या में पार्टी वर्कर हाजिर थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!