संवाद सहयोगी, रूपनगर

देश में डीजल, पेट्रोल व रसोई गैस आदि की बढ़ती कीमतों के विरोध में सोमवार को ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दी गई भारत बंद की कॉल व पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुनील जाखड़ के दिशा निर्देशों पर रूपनगर में हालांकि कांग्रेसियों ने बंद को सफल बनाने के लिए काफी मेहनत की, लेकिन शहर में बंद करवा पाने में कांग्रेसी सफल नहीं हो पाए। बंद की कॉल सुबह 9 बजे से शाम तीन बजे तक की थी। शहर के कुछ कांग्रेसियों ने तो मात्र औपचारिकता पूरी करने के लिए ही दुकानें बंद कीं , लेकिन कुछ समय बाद दुकान दोबारा खोल भी ली गई। रूपनगर में भारत बंद का नेतृत्व ओबीसी प्रकोष्ठ के चेयरमैन गु¨रदर ¨सह बिल्ला सहित एआइसीसी के पूर्व मेंबर रमेश गोयल, शहरी प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिला महासचिव जगदीश काजला तथा सिटी अध्यक्ष स¨तदर नागी ने संयुक्त रूप से किया। इन नेताओं ने बंद को कामयाब बनाने के लिए मेहनत भी की लेकिन मेहनत रास नहीं आई क्योंकि ज्यादातर कांग्रेसी नदारद रहे। शहर के मेन बाजार का चक्कर लगाने के बाद बंद का नेतृत्व कर रहे नेताओं ने कहा कि लोगों को अच्छे दिनों का सपना दिखा सत्ता में आई मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान हर वर्ग संताप झेल रहा है जबकि हर दिन डीजल, पेट्रोल व रसोई गैस की बढ़ती कीमतों ने तो लोगों का जीना दूभर कर दिया है। उन्होंने कहा कि लोगों के दर्द को समझते हुए कांग्रेस ने देश भर में मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है जिसकी कड़ी में सोमवार को भारत बंद किया गया है। इन नेताओं ने बंद सफल होने का दावा करते हुए यहां तक कहा कि लोग 2019 आने से पहले ही मोदी द्वारा अच्छे दिन आने वाले भरोसे को नकारने लगे हैं तथा लोग यहां तक कहने लगे हैं कि उनके पुराने दिन ही लौट आएं तो अच्छा है। इस मौके कांग्रेसियों ने बढ़ती महंगाई व रूपये की गिरती कीमत का मुद्दा भी प्रमुखता के साथ उठाया। देश वासी कांग्रेस को सत्ता में देखना चाहते हैं। उन्होंने मोदी सरकार से मांग की कि पैट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों को तुरंत वापिस लेते हुए लोगों को राहत दी जाए। इस मौके पर ओबीसी प्रकोष्ठ के जिला चेयरमैन शिव दयाल, राहुल ब्रिगेड की प्रदेशाध्यक्ष सुषमा रानी मोना, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश महासचिव शीला नारंग, वंदना सैनी, सीमा चौधरी, गीता रानी, एससी प्रकोष्ठ के जिला चेयरमैन प्रेम ¨सह डल्ला, करम ¨सह, अशोक दारा, सोनू वोहरा, लखवंत ¨सह, जिला सचिव संदीप जोशी, पाल चंद वर्मा, विवेक बैंस, राजेश्वर लाली, न¨रदर चौधरी, एमपी जैन, रामजी दास, म¨हदर ¨सह, अमित गुरु, देव राज व राजन यादव आदि शामिल थे।

अकेले पड़ गए कांग्रेसी जिला कांग्रेस ने रविवार को कांग्रेस भवन में बैठक करते हुए बंद को कामयाब बनाने की पूरी योजना बनाई थी। जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय कुमार शर्मा ¨टकू द्वारा दावा भी किया गया था भारत बंद को लेकर जिले में कांग्रेस को अन्य कई राजसी दलों व संगठनों का समर्थन हासिल हो चुका है, लेकिन सोमवार जब बंद का मौका आया, तो कांग्रेस के सारे दावे धरे के धरे रह गए। जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय कुमार शर्मा ने खुद मो¨रडा क्षेत्र की कमान संभाली, जबकि रूपनगर में बंद का झंडा उठाने में कांग्रेसी अकेले ही रह गए, क्योंकि अन्य किसी भी राजसी दल का प्रतिनिधि तक उनके साथ दिखाई नहीं दिया जबकि अनेकों लोकल कांग्रेसी भी नदारद ही रहे।

Posted By: Jagran