अरुण कुमार पुरी, रूपनगर

जरूरत पड़ने पर आप किसी न किसी एटीएम से अपनी जरूरत के अनुसार पैसा निकाल काम चला लेते हैं, लेकिन अगर संबंधित बैंक की उदासीनता के चलते एटीएम खाली हो या खराब हो अथवा बंद हो जाए तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि जरूरतमंद व्यक्ति की क्या दशा होती होगी। ठीक ऐसी ही हालत इन दिनों रूपनगर के रेलवे स्टेशन पर बने स्टेट बैंक आफ इंडिया के एटीएम की है, जोकि गत एक अक्टूबर से बंद ही नहीं पड़ा बल्कि उस पर ताला लगाते हुए रेलवे द्वारा सील कर दिया गया है। इस बारे जब रेलवे स्टेशन के अधिकारियों से जानकारी मांगी गई तो पता चला कि रेलवे परिसर में एटीएम चलाने का कांट्रेक्ट 30 सितंबर को समाप्त हो गया है तथा बैंक द्वारा नया कांट्रेक्ट साइन न करने के कारण इसे विभागीय आदेशों पर सील कर दिया गया है। रेलवे विभाग के सीएमआइ अजय गोयल ने बताया कि रेलवे के नियमानुसार कांट्रेक्ट समाप्त होने से तीन माह पहले नया कांट्रेक्ट करने की प्रक्रिया शुरू करनी होती है जोकि बैंक के द्वारा नहीं की गई जिसके चलते उच्च अधिकारियों के आदेशों व रेलवे के नियमानुसार एटीएम को सील किया गया है।

हर दिन लोग हो रहे हैं परेशान ---

एटीएम सुविधा शुरू होने के बाद से रेलगाड़ी या बसों में सफर करने वाले ज्यादातर लोग बहुत कम पैसे लेकर चलते हैं व जहां जरूरत पड़ती है एटीएम से पैसा निकाल लेते हैं। एटीएम सबसे अधिक रेल में सफर करने वालों के लिए वरदान है लेकिन रूपनगर के रेलवे स्टेशन का एटीएम गत एक अक्टूबर से सील होने व लोगों को इसकी जानकारी न होने के कारण हर दिन रेल में सफर करने वालों को परेशान होना पड़ रहा है। कई बार तो पैसे की जरूरत वाले व्यक्ति को रेलवे स्टेशन से स्पेशल थ्री-व्हीलर करके किसी अन्य एटीएम पर जाना पड़ता है यानि अपना ही पैसा निकालने के लिए पैसे व समय की बर्बादी करनी पड़ती है। लेकिन लोगों की इस परेशानी से रेलवे विभाग व संबंधित बैंक को कुछ लेना देना नहीं है क्योंकि बैंक समय पर कांट्रेक्ट साइन नहीं कर सका जबकि रेलवे विभाग नियमों की दुहाई देता हुए पल्ला झाड़ रहा है। मंजूरी मिलते ही एटीएम चालू हो जाएगा: हरीओम यादव स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजर हरी ओम यादव ने बताया कि बैंक द्वारा तो समय पर ही कांट्रेक्ट साइन करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई थी, लेकिन देरी का कारण यह है कि पहले कांट्रेक्ट अंबाला में ही साइन होता था लेकिन अब दिल्ली के बडौदा हाउस में साइन होता है। अगले पांच साल का कांट्रेक्ट साइन करने के लिए फाइल दिल्ली भेजी जा चुकी है व मंजूरी मिलते ही एटीएम चालू हो जाएगा। हमारे द्वारा रेलवे अधिकारियों से अपील की गई थी कि एटीएम को सील न किया जाए व जब तक कांट्रेक्ट साइन नहीं हो जाता उस दिन तक जनहित को देखते हुए, किराया अदा करने को तैयार है। लेकिन उनकी अपील को रेलवे ने ठुकरा दिया। जिसके चलते अब कांट्रेक्ट साइन होने का इंतजार किया जा रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!