Move to Jagran APP

Roopnagar: Honey Trap में फंसाकर NRI से की थी एक करोड़ की मांग, जांच के बाद पूर्व SHO समेत छह लोग के खिलाफ मामला दर्ज

हनी ट्रैप गिरोह के सरगना आरोपित दिलहरजीत सिंह और काठगढ़ के पूर्व एसएचओ परमिंदर सिंह समेत छह लोगों के खिलाफ थाना सिटी रूपनगर में फिरौती मांगने के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। इस मामले में रूपनगर के गोबिंद वैली के जसदेव सिंह ने इसी साल जुलाई में एसएसपी रूपनगर को शिकायत देकर हनी ट्रैप में लोगों को फंसाकर मोटी राशि वसूलने का मामले दर्ज कराया था।

By AJAY AGNIHOTRIEdited By: Shoyeb AhmedPublished: Sat, 16 Dec 2023 10:55 PM (IST)Updated: Sat, 16 Dec 2023 10:55 PM (IST)
Roopnagar: Honey Trap में फंसाकर NRI से की थी एक करोड़ की मांग, जांच के बाद पूर्व SHO समेत छह लोग के खिलाफ मामला दर्ज
एआरआई से एक करोड़ की मांग की जांच के बाद पूर्व SHO समेत छह लोग के खिलाफ मामला दर्ज

जागरण संवाददाता, रूपनगर। हनी ट्रैप गिरोह (Honey Trap Gang) के सरगना आरोपित दिलहरजीत सिंह और काठगढ़ के पूर्व एसएचओ परमिंदर सिंह समेत छह लोगों के खिलाफ थाना सिटी रूपनगर में फिरौती मांगने के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है।

loksabha election banner

इस मामले में लंबी पड़ताल के बाद कार्रवाई हुई है। इस मामले में सरगना आरोपित दिलहरजीत सिंह की पत्नी एडवोकेट प्रदीप कौर और एक भाजपा नेत्री भी नामजद है।

मोटी राशि वसूलने के मामले की जांच की थी मांग  

रूपनगर के गोबिंद वैली के जसदेव सिंह ने इसी साल जुलाई माह में एसएसपी रूपनगर को शिकायत देकर हनी ट्रैप में लोगों को फंसाकर मोटी राशि वसूलने के मामले की जांच की मांग की थी। तत्कालीन एसएसपी विवेकशील सोनी ने इस मामले में एसआइटी का गठन किया था।

जिसमें डीएसपी दीपइंद्र कौर, एसएचओ सिटी रूपनगर इंसपेक्टर पवन कुमार और एसआइ प्रभजोत कौर शामिल थीं। इस समय दिलहरजीत सिंह पहले थाना सिटी रूपनगर में ही दर्ज एक हनीट्रैप मामले में जेल में बंद है।

इनके खिलाफ हैं मामला दर्ज 

हालिया दर्ज एफआइआर नंबर-281 में ज्ञानी जैल सिंह नगर निवासी दिलहरजीत सिंह, उसकी पत्नी एडवोकेट प्रदीप कौर, थाना काठगढ़ के पूर्व एसएचओ इंसपेक्टर परमिंदर सिंह, आदर्श नगर रूपनगर निवासी अनु शर्मा, गोल्डन सिटी रूपनगर निवासी भाजपा नेत्री सोनिया शर्मा, जिला पठानकोट के थाना तारागढ़ के गांव माड़ी की कुलदीप कौर के खिलाफ फिरौती मांगने के आरोप में दर्ज की गई है।

ये है पूरा मामला

शिकायतकर्ता के मुताबिक आरोपित कुलदीप कौर गोबिंद वैली रूपनगर में उसके एनआरआई भाई गुरदेव सिंह (73) के पास किराये पर कमरा लेने के लिए आई थी और उसके भाई ने उसे कहा था कि उनके पास किराये पर कमरा नहीं है। बाद यह कहकर कुलदीप कौर वहीं बैठ गई कि उसे लेने के लिए कोई आ रहा है। काफी देर जब कोई उसे लेने नहीं आया तो कुलदीप कौर ने उसके भाई को उसे रैलमाजरा छोड़ देने के लिए कहा।

उसका भाई हरदेव सिंह अपने किरायेदार अमन को साथ लेकर उसे रैलमाजरा छोड़ आए। उसके बाद उसके भाई गुरदेव सिंह को काठगढ़ पुलिस स्टेशन से फोन आया कि आप स्टेशन में आओ आपके खिलाफ कुलदीप कौर ने शिकायत दर्ज करवाई है। अगले दिन वहां जाने पर पता चला कि गुरदेव सिंह के खिलाफ कुलदीप सिंह के साथ अश्लील हरकतें करने के आरोप में शिकायत दी गई है।

शिकायतकर्ता ने ये बताया

इसी दौरान शिकायतकर्ता ने एक शिकायत थाना सिटी रूपनगर में दुष्कर्म करने के आरोप की दी। जिसमें एफआइआर भी दर्ज हुई थी। जबकि काठगढ़ पुलिस स्टेशन में कुलदीप कौर के साथ आरोपित दिलहरजीत सिंह, सोनिया शर्मा, एक अन्य महिला जिसे कुलदीप अपनी मौसी बताती थी, वहां आए और एक करोड़ रुपये में फैसला करवाने की बात कही।

जब उसके भाई गुरदेव सिंह ने रुपये देने से मना किया तो वो पहले पचास लाख और फिर पच्चीस लाख रुपये की मांग करने लगे। आरोपित दिलहरजीत सिंह व उसकी एडवोकेट पत्नी प्रदीप कौर लोगों को ट्रैप में फंसाकर लेनदेन काम करते हैं। जबकि पूर्व एसएचओ पर गिरोह की फिरौती मांगने में सहयोग का आरोप है।

ये भी पढ़ें- गैंगस्टर संपत नेहरा को पटियाला कोर्ट में किया पेश, कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में लाई पुलिस

थाना सिटी में पहले से दर्ज है एफआइआर

इसी साल अक्टूबर माह में थाना सिटी रूपनगर पुलिस ने हनी ट्रैप मामले में एफआइआर नंबर 233 दर्ज की थी। जिसमें थाना काठगढ़ के पूर्व एसएचओ इंसपेक्टर परमिंदर सिंह, हनीट्रैप गिरोह के मुख्य सरगना दिलहरजीत सिंह, उसकी एडवोकेट पत्नी समेत छह लोगों को नामजद किए गए थे।

57 लाख रुपये की वसूली रकम

इन पर आरोप है कि इन्होंने अलग अलग लोगों से हनीट्रैप के जरिये 57 लाख रुपये की रकम वसूली। रूपनगर के रामा मंदिर के निकट रहने वाले सुनील कुमार के बयान पर हनी ट्रैप गिरोह के सरगना आरोपित दिलहरजीत सिंह, उसकी पत्नी एडवोकेट प्रदीप कौर, उसके बेटे अभीनूर मिर्जा, भाजपा नेता वाल्मीकि आश्रम रूपनगर के रोहित सुलतान, भाजपा नेत्री सोनिया शर्मा और इंसपेक्टर परमिंदर सिंह (तत्कालीन एसएचओ काठगढ़) के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोपों में मामला दर्ज किया था।

शिकायतकर्ता के मुताबिक आरोपित दिलहरजीत ने एक महिला को मोहरा बनाकर उसके समेत छह लोगों को ब्लैकमेल किया और कुल 57 लाख रुपये उनसे वसूल लिए।

ये भी पढे़ं- गोगामेड़ी की हत्या के बाद अब Punjab के 'करणी सेना' अध्यक्ष को मिली धमकियां, अलग-अलग नंबरों से आ रही कॉल


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.