जागरण संवाददाता, नंगल: बोर्ड आफ आयुर्वेदिक एंड यूनानी सिस्टम आफ मेडिसिन पंजाब के सदस्य डा. ईश्वर चंद्र सरदाना ने कहा कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की अंतर अनुशासनात्मक समिति की ओर से जारी प्रोटोकाल के बाद अब आम जनता व लोग कोरोना से बचाव के लिए आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के अनुसार भी उपचार प्राप्त कर सकेंगे। समिति की ओर से कोविड 19 से बचाव के लिए पिछले समय में चले तरह-तरह के उपचारों की समीक्षा बुद्धिजीवियों, आयुर्वेदाचार्यो तथा माडर्न साइंस से जुड़े संगठनों के साथ लंबा विचार विमर्श करके ही प्रोटोकाल तैयार किया है। उन्होंने कहा कि आइएमए जैसे कुछ संगठन इसका विरोध कर रहे हैं, जो जनहित में ठीक नहीं है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति से जुड़े सभी वैद्यों के उपचार अब प्रोटोकाल की मान्यता के दायरे में आ चुके हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!