संवाद सहयोगी, रूपनगर : जिला प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग, पुलिस व अन्य विभागों द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। इन्हीं प्रयासों के बीच एक अच्छी खबर यह है कि जिले में कोरोना वायरस का एक भी पॉजीटिव केस नहीं है। डीसी सोनाली गिरी व सिविल सर्जन डॉ. एचएन शर्मा के अनुसार जिला वासियों को घबराने की जरूरत नहीं है लेकिन अभी सतर्कता बरतना व स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का गंभीरता से पालन करना अति जरूरी है।

डीसी सोनाली गिरी ने बताया कि अभी तक कोरोना वायरस के सात संदिग्ध मरीज सामने आए हैं जिनके सैंपल जांच के लैबोरेटरी भेजे गए थे व इनमें से पांच संदिग्ध मरीजों के सेंपल निगेटिव पाए गए हैं जबकि दो की रिपोर्ट शाम तक आने की संभावना है। इसके अलावा शनिवार को आनंदपुर साहिब के जिस बुजुर्ग को संदिग्ध मरीज समझते हुए रूपनगर के सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है वो ठीक है लेकिन उसकी रिपोर्ट भी शाम तक मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा जिले में 25 व्यक्तियों को क्वारंटाइन करते हुए घरों में रखा गया है व इन्हें सरकारी हिदायतों के अनुसार अगले 14 दिनों तक एहतियात के तौर पर इसी प्रकार स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा जाएगा।

सरकार की ओर से नई हिदायतों के अनुसार विदेश से लौटने वालों या उनके संपर्क में आए क्वारंटाइन व्यक्तियों के घरों के बाहर क्वारंटाइन का एक बोर्ड या स्टिकर भी लगाया जा रहा है ताकि आसपास रहने वालों को इसके बारे में जानकारी मिल सके व वे सतर्क रह सकें। उन्होंने स्पष्ट किया कि क्वारंटाइन किए गए किसी भी व्यक्ति में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं हैं बल्कि सरकारी हिदायतों के अनुसार उन्हें 14 दिनों के लिए घरों में बंद रखा जा रहा है लेकिन किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। इमीग्रेशन अथारिटी द्वारा विदेश से लौटे लोगों की सूची प्रशासन को सौंपी गई है उसी के तलाश की जा रही है व कहा कि अगले कुछ दिनों में होम क्वारंटाइन व्यक्तियों की संख्या बढ़ सकती है। उन्होंने लोगों से अपील की कि अब वक्त घबराने का नहीं बल्कि सतर्कता बरतते हुए केवल स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का पालन करने का है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!