संवाद सूत्र, कीरतपुर साहिब: प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कीरतपुर साहिब दिन दिनों स्टाफ की कमी से जूझ रहा है। इसका खामियाजा मरीजों को झेलना पड़ रहा है। मरीजों को मजबूरी में अपना ईलाज और टेस्ट बाहर निजी अस्पतालों में करवाने पड़ रहे हैं। मंगलवार को यहां आए मरीजों ने बताया कि रोजाना स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ पूरा नहीं मिलता। कुछ स्टाफ मेंबर तो तीन बजे छुट्टी होने से पहले ही अपने घर चले जाते हैं। मौके का दौरा करने पर देखा कि दोपहर ढाई बजे तक लेबोरेटरी, दांतों के डॉक्टर और फीमेल मेडिकल अफसर के कमरे में कोई भी तैनात नहीं था। इस कारण टेस्ट करवाने वाले और दांतों की बीमारियों से पीड़ित सहित महिलाए बिना इलाज के वापस लौट रही थीं। इसके अलावा एनएचएम के कमरे सहित एसएमओ का दफ्तर भी खाली था। एक मेडिकल अफसर मरीजों का चेकअप कर रहे थे। इसके अलावा एक चीफ फार्मासिस्ट और एक फार्मासिस्ट सहित स्टाफ के दो सदस्य ही सीट पर थे।

वहीं ड्यूटी पर तैनात मेडिकल अफसर डॉ. प्रेम कुमार ने बताया कि एसएमओ छुट्टी पर हैं। दांतों की डॉक्टर भरतगढ़ स्वास्थ्य केंद्र में कैंप में गई हैं। फीमेल डॉक्टर व स्टाफ नर्स प्रशिक्षण पर गई हुई हैं। लेबोरेटरी में तैनात अटेंडेंट स्वास्थ्य खराब होने के कारण छुट्टी पर चली गई हैं। मेरी ड्यूटी भी भलाण में है। स्वास्थ्य केंद्र में स्टाफ की कमी कारण बाहर से स्टाफ मंगवाया जाता है।

रजिस्टर देखकर करेंगे चेक: डॉ. एचएन शर्मा उधर सिविल सर्जन रूपनगर एचएन शर्मा ने कहा कि एसएमओ छुट्टी पर गए हैं। अस्पताल में स्टाफ न होने पर रजिस्टर देखकर चेक किया जाएगा कि मंगलवार को कौन ड्यूटी पर था और कौन छुट्टी पर। एसएमओ को भी हिदायत दी जाएगी कि अस्पताल के बाहर बोर्ड लगाया जाए और उसमें लिखा जाए कि कौन कहां ड्यूटी पर है और कौन अस्पताल में मौजूद है। मरीजों को कोई परेशानी नहीं आने देंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!