जेएनएन, पटियाला : श्री पूर्वाचल सभा विर्क कालोनी ने प्रधानमंत्री के नाम पत्र लिखकर होशियारपुर में अपने पूर्वाचली नौकर की छोटी बच्ची से दुष्कर्म व जिदा आग लगाकर मारने की समाज को ठेस पहुंची है। सभा को भारत के संविधान पर पूरा विश्वास है कि ऐसे जघन्य अपराध के आरोपित को तो फांसी निश्चित है। आगे से ऐसा अपराध हिदुस्तान में ना हो इस पर भी विचार करना है। पहले भी ऐसे केसों में कई आरोपितों को फांसी लग चुकी है फिर भी मीडिया रिपोर्ट के अनुसार देश में हर 16 मिनट में दुष्कर्म हो रहा है। इसकी जिम्मेदारी किसी एक की नहीं हम सभी देशवासियों की है। नाबालिग बच्चियों के आरोपितों को फांसी घर की बजाय निर्भया की तर्ज पर संविधान में संशोधन करके जनता के सामने खुले स्टेडियम में विदेशों के नक्शे कदम की तरह क्रेन से फांसी पर लटकाया जाने से नन्हीं बच्चियों को दरिदों से बचाया जा सकता है। ऐसे केसों में जातिवाद या पंजाब, बंगाल, बिहार , मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, नहीं होना चाहिए। ऐसे शब्दों से अपराध को बढ़ावा मिलता है। इस अवसर पर संयोजक जसपाल सागर, विक्रम, राम सागर, राजिदर, जतिदर, अरविद पाल एडवोकेट मौजूद रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!