जागरण संवाददाता, पटियाला :

बिजली कर्मचारियों को प्रमुख संगठन कर्मचारी महासंघ की मांगों को पावरकाम ने स्वीकार कर लिया है। संगठन नेताओं प्रदेश अध्यक्ष बलदेव मंडली, संरक्षक हरमेश धीमान, सीनियर उपाध्यक्ष बलविदर सिंह बाजवा, इंद्रजीत सिंह ढिल्लों, दीपिदर, गुरमेज सिंह ढिल्लों, महासचिव सुखविदर सिंह चहल, मुख्य आयोजक परमजीत सिंह दसुहा, स्टेट प्रेस सचिव राम सिंह सनौर, कुलवंत सिंह अटवाल उप महासचिव ने बताया कि कर्मचारियों की मांगों को लागू करवाने के लिए बीती 15 नवंबर से बिजली मुलाजिम हड़ताल पर चले गए और

पंजाब के सभी दफ्तरों के बाहर गेट बंद करने समेत विरोध प्रदर्शन हो रहे थे।

बिजली विभाग का पूरा काम ठप हो गया और कई जगह बिजली आपूर्ति भी प्रभावित रही। इस संघर्ष में संयुक्त मंच की बिरादरी संस्थाओं ने पूरा सहयोग किया। बिजली कर्मचारियों का धरना देखकर प्रबंधन को झुकना पड़ा और लगातार तीन दिनों की बैठक के बाद और वर्ष 2011 में वेतन बैंड जारी करने की सूचना मौके पर जारी की गई संयुक्त मंच द्वारा इस मुद्दे का समाधान नहीं किया गया। कर्मचारियों के अधिकारों की रक्षा के लिए संघर्ष का समर्थन करने वाले कर्मचारी महासंघ की ओर से भी धन्यवाद ज्ञापित किया गया। बिजली कर्मचारियों के साथ बैठक में पावरकाम के सीएमडी ए. वेणु प्रसाद, डायरेक्टर एडिमिनस्ट्रेशन आरपी पांडव, राजन गुप्ता मुख्य लेखा अधिकारी, बीएस गुरम उपसचिव, सोमनाथ उपसचिव के साथ साथ बिजली मुलाजिम संगठन की ओर से कुलदीप सिंह खन्ना, सिकंदर नाथ, बलदेव सिंह मंडली, रवेल सिंह सरायपुर, हरपाल सिंह, राम लुभाया, सुखविदर सिंह चहल, अवतार सिंह कंठ, जगरूप सिंह महमूदपुर, जगजीत सिंह कोटली, हरजिदर सिंह , हरजीत सिंह और मंजीत कुमार मौजूद रहे।

Edited By: Jagran