जेएनएन, नाभा/पटियाला [प्रेम वर्मा]। नाभा के सहकारी बैंक की मेन ब्रांच में मैनेजर ने अपने कुछ कर्मचारियों के साथ मिलकर बैंक के प्रांगण में ही पोस्त के पौधे लगा दिए। यहांं लंबे समय से पोस्त उगाई जा रही थी। तीन क्यारियों में उगाए यह पौधे करीब आठ इंच बड़े हो चुके थे और यह सिलसिला पिछले लंबे समय से चल रहा था।बता देें, ,पोस्त के पौधेे में डोडे लगते हैं। इसी से अफीम और भुक्की तैयार होती है। इसकी खेती पंजाब में पूर्ण रूप से प्रतिबंधित है। इस साल की शुरुआत में भी समाना में पोस्त की खेती करने का मामला पकड़ा जा चुका है। 

गांव मैहस के जिमींदार बलवीर सिंह ने जब इन पौधों को देखा तो तुरंत 112 हेल्पलाइन पर कंप्लेंट कर दी, जिसके बाद तुरंत कोतवाली नाभा पुलिस मौके पर पहुंची। जिन्होंने मौके से हरे पौधे कब्जे में लेने के बाद मैनेजर सहकारी बैंक मेन ब्रांच सतनाम सिंह व एक अनजान मुलाजिम के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल इस मामले में आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। बताया जा रहा है कि आरोपित बैंक मैनेजर के रिटायरमेंट में कुछ समय ही बाकी है।

शिकायकर्ता बलवीर सिंह के अनुसार वह जिमींदार हैं। उनका सहकारी बैंक से करीब दो लाख का रुपये लोन पास हुआ था। लोन की रकम लेने के लिए वह शुक्रवार को बैंक पहुंचे, जिसके बाद शनिवार दोबारा से बैंक में आए। यहां पर देखा कि चारपाई के आकार की तीन क्यारियां बनाई हुई थी, जिसमें पोस्त के पौधे लगा रखे थे।

उन्होंने इस पोस्त की खेती की वीडियो बनानी शुरू की तो बैंक मैनेजर व कुछ अन्य स्टाफ मेंबरों ने धक्कामुक्की शुरू कर दी। इसके बाद उन्होंने हेल्पलाइन नंबर 112 पर कंप्लेंट कर दी, जिसके बाद कोतवाली नाभा की पुलिस मौके पर आई। पुलिस के मौके पर पहुंचते ही बैंक प्रबंधक मान गए कि यह पोस्त के ही पौधे हैं। जिसके बाद पुलिस टीम ने पौधे कब्जे में लेने के बाद लैब में भेज दिए और बैंक मैनेजर सहित अन्य स्टाफ मेंबर पर केस दर्ज कर लिया गया है। 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरेंं पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!