पटियाला, जागरण संवाददाता: निगम कमिश्नर द्वारा असिस्टेंट टाउन प्लानर (एटीपी) नवनीत सिंगला को सीएलयू केस को 75 दिन तक लटकाए रखने के आरोपों के तहत सस्पेंड कर दिया गया। कमिश्नर आदित्य उप्पल ने मामले की जांच ज्वाइंट कमिश्नर नमन मड़कन को सौंपकर सात दिन में रिपोर्ट देने को कहा है।

उधर, जब इस मामले संबंधी नवनीत सिंगला से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने इस संबंधी बात करने से मना कर दिया। जानकारी के अनुसार सितंबर 2022 के दौरान चेंज आफ लैंड यूज का एक केस नगर निगम में अप्लाई किया गया था। पर इस केस को 75 दिन तक लटकाए रखा। जिस व्यक्ति द्वारा यह केस अप्लाई किया गया था, बार-बार निगम अधिकारियों के पास पहुंच की गई, बावजूद इसके कोई सुनवाई नहीं की गई।

सहायक टाउन प्लान द्वारा केस पर आब्जेक्शन लगाकर वापस भेज दिया गया। जिसके बाद संबंधित व्यक्ति द्वारा इस केस को लेकर निगम कमिश्नर से मुलाकात की गई और पूरे मामले संबंधी जानकारी दी गई। व्यक्ति ने आरोप लगाया कि उसके केस को जानबूझकर लटकाया जा रहा है। जिसके तहत निगम कमिश्नर आदित्य उप्पल ने एटीपी को सस्पेंड कर दिया।

इस बारे में निगम कमिश्नर आदित्य उप्पल ने कहा कि काम में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले की जांच ज्वाइंट कमिश्नर को मार्क की गई है। उधर, नगर निगम के ज्वाइंट कमिश्नर नमन मड़कन ने कहा कि कमिश्नर के निर्देशों की कापी मिल चुकी है। इस संबंधी ज्यादा जानकारी नहीं दी जा सकती। पर मामले की पड़ताल शुरू करे तय समय पर रिपोर्ट पेश की जाएगी।

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट