जेएनएन, समाना (पटियाला) : वाटर सप्लाई और सेनिटेशन वर्कर यूनियन की बैठक ब्लॉक प्रधान बलजिदर सिंह की अध्यक्षता में हुई। इस दौरान विशेष तौर पर पहुंचे यूनियन के प्रदेश नेता हरदीप सिंह ने कहा कि विभाग में दस सालों से सेवाएं दे रहे एनलिस्टमेंट, आउटसोर्स फील्ड कर्मियों की छंटनी की जा रहीहै। वहीं, विश्व बैंक से करोड़ों का कर्ज लेकर पंजाब की समूह वाटर सप्लाई स्कीमों को पंचायतों को सौंपा जा रहा है। विभाग पंचायतीकरण के नाम पर निजीकरण कर रहा है, जिससे विभाग से समूह केका कर्मियों का भविष्य खतरे में है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार द्वारा पंचायत के हवाले की गई ब्लाक समाना की 26 वाटर सप्लाई स्कीमों पहले से ही सफेद हाथी साबित हो रही हैं। जिनकी तरफ बिजली बोर्ड का करीब ढाई करोड़ रुपये का बकाया है। पंचायत यह बिल भरने में असमर्थ है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने सत्ता में आने से पहले हर तरह के कच्चे वर्करों को पक्का करने का सपना दिखाया था और घर-घर में नौकरी देने का वादा किया था। अब सरकार अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे ठेका कर्मियों को निकालने का काम कर रही है, जिसका खामियाजा आने वाले दिनों में भुगतना पड़ेगा। इस अवसर पर भगवान सिंह, हरप्रीत सिंह, हरपाल सिंह, मलकीत सिंह, परमिदर सिंह, अवतार सिंह, गुरसिमरन सिंह, सुखजिदर सिंह, पवन कुमार, निर्मल सिंह, मोहन लाल मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!