संस, राजपुरा (पटियाला) : लुधियाना में महिला की कोरोना से मौत हो जाने व परिवारिक सदस्यों के अंतिम संस्कार में न जाने से आहत राजपुरा के वरिष्ठ समाजसेवी प्रदीप नंदा ने एसडीएम राजपुरा टी-बैनिथ को पत्र लिखकर कोरोना से मरने वालों का अंतिम संस्कार करने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा कि पंजाब के किसी भी शहर में कोरोना की बीमारी के चलते मरीज की मौत के बाद अगर उनके परिवारिक सदस्यों को दाह-संस्कार में कोई परेशानी आती है तो वह खुद इस जिम्मेवारी को निभाने के लिए तैयार हैं। कोरोना जैसी बीमारी की चपेट में आने के बाद पीड़ित व्यक्ति के परिवार को आइसोलेट किया जाता है जिससे उन्हें कई बार परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है।

समाज सेवा में बढ़चढ़ कर लेते हैं भाग

प्रदीप नंदा रक्तदानी होने के साथ-साथ समाजसेवी कार्यो में भी बढ़चढ़ भाग लेते रहते हैं। कोरोना वायरस के चलते इलाके में हुए लॉकडाउन में 1500 से ज्यादा जरूरतमंद परिवारों के घर-घर तक राशन का सामान पहुंचाने के साथ उनकी हर प्रकार से मदद कर रहे हैं। इसके लिए वह ज्वाइंट ग्रुप और भारत विकास परिषद का भी सहयोग ले रहे हैं। प्रदीप नंदा का कहना है कि उनके समाज सेवी कार्यो को देखते हुए यूनिसेफ व डब्ल्यूएचओ ने देश भर में चलाई गई पल्स पोलियो मुहिम के तहत ही उसे जिला पटियाला का आब्जर्वर नियुक्त किया था। उन्होंने जिले की सभी एनजीओ को साथ जोड़कर पल्स पोलियो मुहिम में बढ़चढ़ कर सहयोग दिया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!