प्रेम वर्मा, पटियाला

27 चाइनीज डेबिट व दो क्रेडिट कार्ड के साथ पटियाला पुलिस द्वारा जून 2016 में गिरफ्तार होने वाले हांगकांग निवासी रमनजीत सिंह रोमी ने नवंबर 2016 में नाभा जेल ब्रेक के लिए फंड मुहैया करवाया था। गौर हो कि नाभा जेल ब्रेक के दौरान गैंगस्टर विक्की गौंडर व दो आतंकी सहित छह लोग फरार हुए थे। इसके बाद से पटियाला पुलिस रोमी को अरेस्ट करने की कोशिश कर रही है, जिसे बाद में हांगकांग पुलिस ने आतंकी गतिविधियों के मद्देनजर गिरफ्तार किया था। अब, नाभा जेल ब्रेक के मामले में पटियाला पुलिस रोमी को भारत लाने की कोशिश में जुटी है, जिसके लिए उसे अभी दो माह और इंतजार करना पड़ सकता है। उधर, रोमी ने हांगकांग की अदालत में याचिका दायर की है कि उसे भारत न भेजा जाए, क्योंकि पटियाला पुलिस उसे टार्चर कर सकती है।

वहीं दूसरी ओर पटियाला पुलिस ने रोमी को हर हाल में भारत लाने के लिए सुबूत तैयार करते हुए हांगकांग अदालत में पेश किए हैं। इस बारे में हांगकांग की अदालत में करीब दो माह तक पेशी चलने की संभावना पुलिस ने जताई है। इस दौरान रोमी के खिलाफ सभी सुबूत अदालत में पटियाला पुलिस की तरफ से पेश होंगे। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चल रही इस प्रक्रिया को देखते हुए एसएसपी पटियाला मंदीप सिंह ने इस केस को पुरानी जांच टीम के हवाले किया है।

इस बारे में एसएसपी मंदीप सिंह सिद्धू ने बताया है कि कि केस के बारे में पुरानी टीम ही जांच कर रही है। यही टीम हांगकांग में होने वाली प्रक्रिया का हिस्सा बनेगी, क्योंकि इन्हें मामले की पूरी जानकारी है।

-----------------

बैंक खाते हैक करने आया रोमी ऐसे बना जेल ब्रेक का मास्टरमाइंड

रमनजीत सिंह रोमी हांगकांग का नागरिक है। वह वर्ष 2016 में पटियाला आया था। उसे पटियाला पुलिस ने जून 2016 को 27 चाइनीज क्रेडिट कार्ड, दो डेबिट कार्ड, .32 बोर की लोडेड रिवाल्वर व 9 जिदा कारतूस, .32 बोर की पिस्टल व 9 जिदा कारतूस, एक स्कारपियो और एक होंडा सिटी कार सहित अरेस्ट किया था। रोमी का मकसद जेल में बंद गैंगस्टरों को छुड़ाने के बाद लोगों के बैंक खातों को हैक कर इन पैसों को दिल्ली निवासी व्यक्ति के ट्रस्ट के खाते में डालने की योजना थी। इन पैसों से गैंगस्टरों की टीम तैयार करने के अलावा जेल में बंद अपराधियों को छुड़ाना था।

जगसीर सिंह उर्फ सीरा पुत्र भजन सिंह वासी सिधाना गांव फूल बठिडा, सारज सिंह पुत्र हरचरण सिंह वासी पक्का कला थाना रामा के साथ मिलकर रमनजीत सिंह उर्फ रोमी गैंगस्टरो को छुड़ाने की तैयारी में था। इन लोगों को यूके निवासी जगजीत सिंह निवासी पंडवां व मंदीप सिंह निवासी धूरकोट वगैरह स्पोर्ट कर रहे थे।

गिरफ्तारी के बाद रोमी को नाभा में मैक्सिमम सिक्योरिटी जेल में रखा गया था। जहां उसकी मुलाकात विक्की गौंडर व अन्य गैंगस्टरों के साथ हुई, तो इन्हें जेल से छुड़ाने के लिए होने वाले खर्च का जिम्मा रोमी ने अपने ऊपर लिया था। जमानत पर बाहर आते ही रोमी ने हांगकांग भागने के बाद इस प्लान पर काम करना शुरू कर दिया और नवंबर 2016 में नाभा जेल ब्रेक कर छह लोग फरार हुए थे।

-------------------

अभी प्रक्रिया चल रही है : एसपी विर्क

तत्कालीन एसपी (डी) पटियाला व मौजूदा एसपी (सिटी) मोहाली हरविदर सिंह विर्क ने कहा है कि इस केस के संदर्भ में वह सुपरविजन कर रहे हैं। रोमी को हांगकांग से लाने के लिए प्रक्रिया चल रही है और वहां की अदालत में रोमी के खिलाफ सुबूत पेश कर रहे हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!