जागरण संवाददाता, पटियाला : आरटीए कार्यालय ने पीबी11बीके0005 गाड़ी की आरसी को एक सूचना के आधार पर ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है। आशंका यह जताई जा रही है कि आरसी बनाने के दौरान संबंधित व्यक्ति ने टैक्स नहीं भरा है। इसी आशंका के चलते कार्यालय कर्मचारियों ने आरसी ब्लैकलिस्ट कर दी है। कुछ समय से आरटीए कार्यालय में टैक्स चोरी के विभिन्न मामले सामने आ चुके हैं। विभाग की सख्ती के बाद संबंधित व्यक्तियों ने टैक्स नहीं भरा। आरसी से संबंधित रिकॉर्ड

वेरीफाई करने की तैयारी में कार्यालय

आरटीए कार्यालय ने जिस आरसी को ब्लैकलिस्ट किया है, से संबंधित दस्तावेज की छानबीन की जाएगी। इस छानबीन में यह देखा जाएगा कि गाड़ी की आरसी बनाने के दौरान कहां-कहां टैक्स चोरी किया गया है। वहीं, यह भी देखा जाएगा कि आरसी बनाने के दौरान क्या सरकारी फीस भरी गई है या नहीं। मामला क्लियर होने के बाद ही आरसी को ब्लैकलिस्ट से बाहर निकाला जाएगा। जानकारी अनुसार 0005 नंबर किसी बड़ी गाडी को लगाया गया है। इस नंबर को लगाने के दौरान कर्मचारी व एजेंटों की मिलीभगत की आशंका भी जताई जा रही है। आरटीए कार्यालय में पुलिस की दबिश

आरटीआइ एक्टिविस्ट ने त्रिपड़ी पुलिस को टैक्स चोरी के मामलों को लेकर शिकायत दी थी। जिसके चलते अब पुलिस ने भी आरटीए कार्यालय में दबिश दी। पुलिस ने कर्मचारियों से मामलों से संबंधित दस्तावेज देने को कहा है। इससे पहले दो ट्रक की आरसी बिना टैक्स भरे बनाने का मामला सामने आ चुका है। हालांकि दफ्तरी अधिकारी मामले की सूचना मिलते ही कार्रवाई शुरू कर देते हैं।

कोट्स

--अगर किसी व्यक्ति ने सरकार का टैक्स चोरी किया है, के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। मामले की पहले पड़ताल की जाएगी। अगर कोई टैक्स चोरी का मामला सामने आया, तो संबंधित व्यक्ति के खिलाफ व आरसी बनाने के दौरान किस-किस व्यक्ति की भूमिका रही है, के खिलाफ कार्रवाई होगी।

--अरविद कुमार, आरटीए, पटियाला।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!