जेएनएन, समाना : भाजपा के मंडल प्रधान विनोद सिगला पर झूठा केस दर्ज करने के विरोध में भाजपा व अकाली वर्करों ने एसडीएम कार्यालय के बाहर धरना दिया। इस धरने में पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरजीत सिंह रखड़ा विशेष तौर पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की शह पर भाजपा नेता विनोद सिगला और उनके अन्य साथियों के खिलाफ झूठा केस दर्ज किया गया है। इसके बावजूद विनोद सिगला और अन्य साथियों की जमानत किए जाने के लिए उन्हें परेशान किया जा रहा है। रखड़ा ने आरोप लगाया कि शुक्रवार को भाजपा मंडल प्रधान विनोद सिगला एसडीएम कोर्ट में जमानत के लिए आए थे। लेकिन कांग्रेस की शह पर एसडीएम को जानबूझ कर छुट्टी पर भेज दिया गया। साथ ही तहसीलदार को भी तहसील परिसर से इधर उधर कर दिया। ताकि भाजपा नेता और उनके साथियों को मानसिक तौर पर परेशान किया जा सके। सुरजीत सिंह रखड़ा ने कांग्रेस की इस नीति की आलोचना करने के साथ प्रशासनिक अधिकारियों को भी चेतावनी दी है कि वह राजसी दबाव में आकर कोई भी गलत कार्य करेंगे तो इसका भुगतान उन्हें करना पड़ेगा। धरने के दौरान विनोद सिगला ने बताया कि उनकी पत्नी वार्ड पार्षद है और गत दिनों वार्ड के कुछ लोगों में आपसी झगड़ा होने से वह उस झगड़े को हल कराने के लिए पंचायती तौर पर पहुंचे थे। लेकिन इस दौरान उपस्थित कुछ लोगों ने उसके साथ गलत व्यवहार किया। इसके बाद कांग्रेस की शह पर उनके ऊपर लडाई झगड़ा करने का झूठा केस दर्ज करा दिया गया। विनोद सिगला ने बताया कि वह इसी सिलसिले में आज एसडीएम कोर्ट जमानत कराने के लिए पहुंचे थे। जिसे देखते उसे मानसिक तौर पर परेशान करने के लिए एसडीएम को जानबूझ कर छुट्टी पर भेज दिया गया। तहसीलदार को भी उसके कार्यालय से बाहर भेज दिया गया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!