जागरण संवाददाता, पटियाला : इस्लामिक रिपब्लिक आफ अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामूदजई ने भारत-अफगानिस्तान औद्योगिक के लिए दोनों देशों की पाकिस्तान के साथ सड़क के रास्ते लगती सरहदों को खोलने की वकालत की। वह शनिवार को कारोबारी व अफगानी स्टूडेंट्स के साथ मुलाकात करने पटियाला पहुंचे थे। इस दौरान डिप्टी कमिश्नर संदीप हंस ने अफगानिस्तानी राजदूत फरीद मामूदजई का पटियाला पहुंचने पर स्वागत किया। इस दौरान उनके साथ एडीसी गुरप्रीत सिंह थिद व जिला उद्योग केंद्र के मैनेजर अंगद सिंह सोही मौजूद रहे। इस दौरान अफगानी राजदूत फरीद मामूदजई ने कहा कि सरहदें खुलती है तो इसका सीधा लाभ भारत व पंजाब सहित पाकिस्तान, अफगानिस्तान सहित तुर्की व ईरान और सेंट्रल एशिया को भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि इस समय अफगानिस्तान से 100 के करीब ट्रक माल लेकर भारत की सरहद पर पहुंचते है परंतु खाली वापस जाते हैं।

अगर इस्लामाबाद व दिल्ली के प्रयास से सरहदें खुलती है तो सरहद से केवल 700 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अफगानिस्तान के व्यापार व आम लोगों को लाभ पहुंचेगा। अपनी पटियाला फेरी के मकसद संबंधी जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान के बहुत स्टूडेंट्स पढ़ने के लिए भारत, खास कर पंजाब में आते है और पंजाब में 1500 से ज्यादा स्टूडेंट्स इस समय पढ़ रहे है। इनमें से 200 स्टूडेंट्स पटियाला में पढ़ रहे है। इस लिए वह उन स्टूडेंट्स सहित यहां के व्यापारी व उद्योगपतियों से मिले है और साथ ही श्री दरबार साहिब अमृतसर व विभिन्न हिदू धार्मिक स्थानों में अपनी श्रद्धा भेंट करने के लिए भारत का दौरा रखा। इस मौके उद्योगपतियों में पटियाला इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, पटियाला चेंबर आफ इंडस्ट्रीज, फोकल प्वाइंट इंडस्ट्रीज एसोसिएशन, द पटियाला हैंडीक्राफ्ट, फूलकारी में पदम श्री लाजवंती व रेखा मान, एचपीएस लांबा, रोहित बांसल, हरविदर सिंह खुराणा लवली, नरेश गुप्ता, अश्वन गर्ग, प्रवेश मंगला, जय नरायण, विर्कम गोयल, यश महिदर, रकेश गोयल, करतार कंबाइन से हरप्रीत सिंह, प्रीत टरेक्टर से राजीव कौशल ने फरीद मामूदजई से मुलाकात करके अफगानिस्तान व पटियाला के उद्योगपतियों के संबंधों की संभावनाओं पर चर्चा की। इस मौके उनके साथ अफगान एबेंसी के ट्रेड कौंसलर कादिर शाह व चारू दास के अलावा विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे। इस्लामिक रिपब्लिक आफ अफगानिस्तान के राजदूत फरीद मामूदजई ने कहा कि भारत के साथ उनके देश के रिश्ते बहुत पुराने व एतिहासिक है। पटियाला के उद्योगपतियों ने अफगान राजदूत को हर तरह का सहयोग प्रदान करने का भरोसा दिया।

Edited By: Jagran